दैनिक भास्कर हिंदी: ‘हिंदू आतंक’ के नाम पर दिग्विजय ने असली आतंकियों को बचाया- पूर्व गृहसचिव

June 19th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह अपने बयानों को लेकर एक बार फिर विवादों में घिर गए हैं। हाल ही में दिग्विजय ने कहा कि जितने भी हिंदू आतंकवादी पकड़े गए हैं, वो सभी संघ के कार्यकर्ता रहे हैं। उनके इस बयान पर पलटवार करते हुए पूर्व गृहसचिव आरवीएस मणि ने दिग्विजय सिंह पर आतंकियों की मदद करने का भी आरोप लगाया है। उन्होंने कहा हिंदू आतंकवाद दिग्विजय सिंह का गढ़ा हुआ झूठ है। उन्होंने हिंदू आतंकवाद का नाम लेकर असली आतंकियों को बचाया है।

 

 

आरवीएस मणि ने कहा, 'हिंदू आतंक' शब्द और सरकारी संसाधनों का इस्तेमाल कर दिग्विजय सिंह ने असली आतंकियों को बचाया है। उनकी वजह से समझौता एक्सप्रेस विस्फोट का मुख्य आरोपी आरिफ कासमानी और मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले का आरोपी बिलाल सुरक्षित बच निकले। मणि ने कहा मैं उनका राजनीतिक एजेंडा नहीं जानता, लेकिन यह साफ करना चाहूंगा कि देश में हिंदू आतंक जैसा कुछ भी नहीं है।

 

 

मणि ने कहा, मैं पहले भी कह चुका हूं कि 2010 तक हिंदू आतंकवाद को लेकर उन्हें कोई आधिकारिक जानकारी नहीं थी। बाद में भी ऐसी कोई चीज नहीं थी। मैंने एक किताब लिखी है जिसमें ये स्पष्ट है कि किस तरह दिग्विजय सिंह ने हिंदू आतंकवाद की नींव रखी और इसे पूरे देश में फैलाया। मणि के मुताबिक हिंदू आतंकवाद के नाम पर दिग्विजय सिंह ने सरकारी संसाधनों का इस्तेमाल कर असली आतंकवादियों को बचाया है।   

 

 

वहीं कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने दिग्विजय के बचाव में कहा कि, वैचारिक रूप से दिग्विजय सिंह के पास बहुत मजबूत विचार हैं। उन्होंने अल्पसंख्यक चरमपंथ का विरोध किया है और कहा है कि हर तरह का चरमपंथ खराब है। हमें इसे जनरलाइज करने की बजाए वह कहना चाहिए जो उन्होंने कहा है और सोचें कि वो किसी एक समुदाय के खिलाफ कह रहे हैं या संगठन के खिलाफ।

 


मध्य प्रदेश के शाजापुर में शनिवार को हुए उपद्रव को लेकर शिवराज सरकार और RSS पर निशाना साधते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा था जितनी भी हिंदू धर्म वाले आतंकी पकड़े गए, वो सब संघ के कार्यकर्ता रहे हैं। महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथू राम गोडसे भी RSS का हिस्सा थे। उन्होंने कहा था कि RSS की विचारधारा नफरत फैलाती है और नफरत हिंसा की तरफ ले जाती है। नफरत आतंकवाद की ओर ले जाती है।