दैनिक भास्कर हिंदी: 'जब से महाराष्ट्र में बीजेपी सरकार आई है तब से राज्य में दंगा-फसाद हो रहा है'

January 2nd, 2018

डिजिटल डेस्क, पुणे। महाराष्ट्र के पुणे में फैली जातीय हिंसा को शिवसेना ने साजिश बताया है। पार्टी के प्रवक्ता और शिवसेना सांसद संजय राउत ने इस हिंसा के पीछे राज्य की बीजेपी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि इस जातीय हिंसा के पीछे बड़े राजनीतिक कारण छिपे हुए हैं। संजय राउत ने कहा, 'पुणे हिंसा के पीछे बहुत बड़ी साजिश है। महाराष्ट्र के सामाजिक सद्भाव को खत्म करने की साजिश के तहत ही मराठा बनाम दलित हिंसा फैलाई गई है।'

एक न्यूज चैनल में हिंसा पर प्रतिक्रिया देते हुए संजय राउत ने कहा कि कुछ लोग राजनीतिक फायदे के लिए महाराष्ट्र को तोड़ना चाहते हैं और राज्य की संपत्ति को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं। उन्होंने कहा, 'जब से महाराष्ट्र में बीजेपी सरकार आई है तब से राज्य में दंगा-फसाद हो रहा है। राज्य की फडणवीस सरकार को इस तरह की हिंसा को रोकने पर विचार करना चाहिए।' शिवसेना सांसद ने कहा, 'सरकार को यह सोचना चाहिए कि आखिर यह हिंसा क्यों फैली? इस पर भी विचार करना चाहिए कि मराठा मोर्चा क्यों  अचानक आक्रामक हो गया?

यह है मामला :

आज महाराष्ट्र के पुणे, कोरेगांव भीमा, पाबल और खिकरापुर में महार दलितों और मराठाओं के बीच जो हिंसा चल रही है, उसकी जड़ करीब 200 साल पुरानी है। 1 जनवरी 1818 को ब्रिटिश फ़ौज की तरफ से 800 महार दलितों ने करीब 28 हजार से अधिक मराठाओं को जंग में हराया था। इसी की याद में हर साल महाद दलितों द्वारा एक जनवरी को जयस्तंभ तक मार्च किया जाता हैं।  इस साल भी 1 जनवरी को भीम कोरेगांव की लड़ाई की 200वीं वर्षगांठ मनाने 5 लाख से ज्यादा लोग जुटे थे। इसी दौरान महार और मराठाओं के बीच विवाद हो गया, जिसमें 1 युवक की मौत हो गई। इसके बाद दंगे और भड़क गए और इसकी आंच राजधानी मुंबई तक पहुंच गई।