दैनिक भास्कर हिंदी: श्रमिक स्पेशल: 30 घंटे का रास्ता 4 दिन में पूरा कर रही ट्रेन, भूख-प्यास से मजदूर परेशान

May 26th, 2020

हाईलाइट

  • श्रमिक स्पेशल ट्रेन में प्रवासी श्रमिक परेशान
  • पुणे से समस्तीपुरा पहुंचे में लगे चार दिन

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रवासी मजदूरों को उनके गृहराज्य पहुंचाने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही है। लेकिन इनमें कुछ ऐसी ट्रेन है जिनके कारण यात्री परेशान हो गए हैं। उन्हें अपनी मंजिल पर पहुंचने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। 30 घंटे की यात्रा 4 दिन में पूरी हो रही है। ऐसे में भूख, प्यास और गर्मी से मजदूर परेशान है। 

दिल्ली से बिहार के मोतिहारी जा रही ट्रेन को समस्तीपुर पहुंचने में चार दिन लग गए। जबकि यात्रा 30 घंटे की है। श्रमिकों का कहना है, उन्हें मोतिहारी का टिकट दिया गया। ट्रेन चार दिन से सिर्फ घुमा रही है। लोगों का कहना है कि सफर भी किसी मुसीबत से कम नहीं है। 

प्लेटफार्म पर बच्चे को जन्म
दिल्ली से मोतिहारी जा रही ट्रेन चार दिन में समस्तीपुर पहुंची। ट्रेन में महिला को प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। बिना किसी मेडिकल सुविधा के महिला ने प्लेटफार्म पर बच्चे को जन्म दिया। जानकारी मिलने पर रेलवे के सीनियर डीसीएम मौके पर पहुंचे और महिला को अस्पताल में भर्ती कराया। 

स्टेशन पर घंटों खड़ी रहती ट्रेन
समस्तीपुर पहुंची एक एक अन्य ट्रेन के यात्री ने बताया कि वह 22 मई को पुणे में ट्रेन में बैठे थे। ट्रेन ने 36 घंटे का सफर 70 घंटे में पूरा किया। एक अन्य पैसेंजर ने बताया कि ट्रेन हर स्टेशन पर करीब 1-2 घंटे खड़ी रहती थी। इस बीच उन्हें खाना और पानी की परेशानी भी हुई। 

खबरें और भी हैं...