दैनिक भास्कर हिंदी: आर्मी चीफ ने कहा, LOC पर कभी भी बिगड़ सकते हैं हालात, हम हर स्थिति के लिए तैयार

December 18th, 2019

हाईलाइट

  • अगस्त से अक्टूबर के बीच पाक ने 950 बार सीजफायर उल्लंघन किया
  • पाकिस्तान की ओर से आतंकियों ने 59 बार संदिग्ध घुसपैठ

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अगस्त में जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान की ओर से लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC) पर लगातार गोलीबारी की जा रही है। LOC पर बढ़ते तनाव को देखते हुए आर्मी चीफ बिपिन रावत ने कहा है कि भारत-पाक सीमा पर हालात कभी भी बिगड़ सकते हैं। देश को किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहना होगा। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना ऐसी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है। 

गौरतलब है कि गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने लोकसभा में कहा था कि अगस्त 2019 से अक्तूबर 2019 के बीच जम्मू और कश्मीर में एलओसी पर पाकिस्तान की ओर से सीजफायर उल्लंघन की 950 घटनाएं हुई हैं। 

साथ ही जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों की सीमा पर मुस्तैदी का बड़ा फर्क एलओसी से आतंकियों की घुसपैठ पर पड़ा है। इस साल अक्टूबर तक मात्र 59 संदिग्ध घुसपैठ हुई हैं। वहीं पत्थरबाजी की भी घटनाओं में कमी आई है।

सेना प्रमुख ने कहा कि पाकिस्तान ऐसा देश है, जो खुद को ही खत्म करने की ओर आगे बढ़ रहा है। जनरल रावत ने कहा कि पाकिस्तान की स्थिति ऐसी है कि वह अपने आप ही अनियंत्रित हो रहा है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को कंट्रोल में करने की जरूरत ही नहीं है। वह खुद ही डीकंट्रोल हो रहा है और शायद हमें कोई कार्रवाई करने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। वह खुद को खत्म करने के रास्ते पर है।

सीमा पर पाकिस्तान की बैट भी सक्रिय

दो बार सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक होने के बाद भी पाकिस्तान की बैट टीम की सक्रियता भी LOC पर दिख रही है। 2013 में बैट टीम ने पुंछ के मेंढर में LOC पर भारतीय जवान हेमराज का सिर काट लिया था। इसके बाद से लगातार बैट राजोरी और पुंछ जिलों की एलओसी पर सक्रिय है। बैट टीम वर्ष 2013 की घटना को दोहराने की नापाक साजिश रच रही है। सर्दी का मौसम आते ही बैट टीम अधिक सक्रिय हो जाती है। घने कोहरे की आढ़ में बैट टीम हमला करती है। ऐसे ही कई हमलों की प्लानिंग बैट टीम कर रही है।