comScore

कोरोना की तीसरी वैक्सीन: भारत में 'स्पूतनिक-V' को एक्सपर्ट कमेटी ने दी मंजूरी, आज शाम सरकार कर सकती है बड़ा ऐलान

कोरोना की तीसरी वैक्सीन: भारत में 'स्पूतनिक-V' को एक्सपर्ट कमेटी ने दी मंजूरी, आज शाम सरकार कर सकती है बड़ा ऐलान

हाईलाइट

  • भारत में 'स्पूतनिक-V' को एक्सपर्ट कमेटी ने दी मंजूरी
  • शाम 5 बजे सरकार कर सकती है बड़ा ऐलान

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत में कोरोनावायरस का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। कोरोना पर काबू पाने के लिए भारत में दो तरह की वैक्सीन लगाई जा रही है। लेकिन स्थिति नियंत्रण में नहीं है। इस बीच एक राहत की खबर सामने आई है। जानकारी के मुताबिक सोमवार को वैक्सीन मामले की सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी (SEC) ने रूस की स्पूतनिक वी को मंजूरी दे दी है। 

आज शाम तक केन्द्र सरकार स्पूतनिक V को लेकर बड़ा ऐलान कर सकती है। सरकार की मंजूरी के बाद भारत में इस वैक्सीन का इस्तेमाल किया जा सकेगा। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक स्पूतनिक वी ने एक्सपर्ट कमेटी के सामने ट्रायल का डाटा पेश किया था। उसी को देखते हुए इस नई वैक्सीन को मंजूरी मिली है। बता दें कि भारत में स्पुतनिक वी हैदराबाद की डॉ. रेड्डी लैब्स के साथ मिलकर ट्रायल किया है और उसी के साथ प्रोडक्शन चल रहा है। ऐसे में वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद भारत में वैक्सीन की कमी को लेकर शिकायत कम हो सकती है।

बता दें कि स्पूतनिक से पहले भारत में 16 जनवरी को टीकाकरण शुरू हुआ था और इसके लिए इसी साल की शुरुआत में कोवीशील्ड और कोवैक्सिन को मंजूर किया गया था। कोवीशील्ड को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका ने मिलकर बनाया है। भारत में पुणे का सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) इसका प्रोडक्शन कर रहा है। कोवैक्सिन को भारत बायोटेक ने इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरलॉजी (NIV) के साथ मिलकर बनाया है। बता दें कि स्पुतनिक-V ही सबसे अधिक 91.6% इफेक्टिव रही है। इसे रूस के गामालेया इंस्टीट्यूट ने रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (RDIF) की फंडिंग से बनाया है।


 

कमेंट करें
or9E2