comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

सुशांत केस: ड्रग्स कनेक्शन में NCB ने रिया चक्रवर्ती को किया गिरफ्तार, वकील ने जमानत अर्जी दायर की


हाईलाइट

  • सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच
  • ड्रग्स कनेक्शन में रिया को NCB ने किया अरेस्ट

डिजिटल डेस्क, मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग्स कनेक्शन को लेकर नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) तेजी से जांच में जुटी हुई है। तीन दिन की पूछताछ के बाद आज मंगलवार को एनसीबी ने रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार कर लिया है। अब टीम रिया को लेकर सायन अस्पताल पहुंच गई है। यहां रिया का मेडिकल और कोरोना टेस्ट होगा। इसके बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा। कोर्ट में पेश किए जाने से पहले रिया के वकील ने जमानत अर्जी दायर की है।

आज मंगलवार को लगातार तीसरे दिन एनसीबी की टीम ने रिया चक्रवर्ती से पूछताछ की। सूत्रों के मुताबिक, NCB पूछताछ में रिया ने यह माना है कि, उन्होंने भी ड्रग्स लिया था। बता दें कि, इससे पहले तक रिया ये कहती आई हैं कि, उन्होंने सिर्फ सुशांत के लिए ड्रग्स खरीदा था लेकिन कभी इस्तेमाल नहीं किया। अब खबर है कि, रिया ने मान लिया है उन्होंने भी ड्रग्स लिया था और इसके लिए सुशांत ने मजबूर किया था।

कल यानी सोमवार को रिया से करीब 8 घंटे और रविवार को 6 घंटे पूछताछ की गई थी। NCB की पूछताछ में रिया ने कई नए राजों से पर्दाफाश किया। इसके अलावा ड्रग्स केस में एनसीबी 25 बॉलीवुड सेलेब्स को समन भेजने की भी तैयारी में है। शुक्रवार को एनसीबी ने रिया के भाई शोविक चक्रवर्ती और सुशांत के हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा को गिरफ्तार किया था। शनिवार को एनसीबी ने सुशांत के स्टाफ दीपेश सावंत को भी गिरफ्तार किया।

LIVE Updates:

रिया को मेडिकल टेस्ट के लिए ले जाया गया।

रिया की गिरफ्तारी के बाद उनके वकील सतीश मानशिंदे ने कहा, तीन एजेंसियां अकेली लड़की को परेशान कर रही हैं। रिया ने एक ड्रग एडिक्ट से प्यार किया। इसी की सजा रिया को मिल रही है।

रिया की गिरफ्तारी पर बिहार DGP गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा, खुश या नाखुश होने का मेरा कोई व्यक्तिगत कारण नहीं है। मैं बस ये चाहता हूं कि सच सामने आए। सुशांत की मौत का जो रहस्य है उसके ऊपर से पर्दा उठना चाहिए। ये चीजें उसमें पहला कदम है। 

डॉक्टर सुजैन वॉकर के खिलाफ शिकायत
सुशांत के पिता केके सिंह ने डॉक्टर सुजैन वॉकर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। डॉक्टर के खिलाफ मेडिकल काउंसिल में शिकायत की गई है। बता दें कि, सुैजन वॉकर सुशांत की थेरेपिस्ट रह चुकी हैं। उन्होंने सुशांत की दिमागी बीमारी पर बयान दिया था। एक्टर को बाइपोलर डिसऑर्डर होने की भी बात कही थी।

NCB ने सुशांत के स्टाफ नीरज सिंह और केशव को समन भेजा है।

रिया की ओर से दर्ज कराई गई FIR गैरकानूनी
सुशांत के पिता के वकील विकास सिंह ने कहा, ऐसा लग रहा है जैसे मुंबई पुलिस का बांद्रा पुलिस स्टेशन रिया का दूसरा घर है। हर छोटी-छोटी समस्या को लेकर वह पुलिस स्टेशन चली जाती हैं, जैसे कोई अपने घर में शरण लेता है। बांद्रा पुलिस ने जो FIR दर्ज की है वो बिल्कुल बेबुनियादी और गैरकानूनी है। ये एफआईआर सुप्रीम कोर्ट की अवमानना और कोर्ट के आदेश की अवहेलना है। डॉक्टर के खिलाफ FIR भी गलत है। लगता है रिया को खुश करने की कोशिश की गई है।

रिया का केस मुंबई पुलिस से सीबीआई को ट्रांसफर
सुशांत सिंह की बहनों के खिलाफ रिया की तरफ से बांद्रा पुलिस स्टेशन में दर्ज कराया गया केस सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक रिया के इस केस को सीबीआई को ट्रांसफर किया गया।

CBI की जांच का आज 19वां दिन
वहीं सुशांत के मामले में CBI की जांच का आज (8 सितंबर) 19वां दिन है। सीबीआई के साथ-साथ ईडी भी इस केस में रिया और सुशांत के करीबियों से लगातार पूछताछ कर रही है। CBI की टीम क्राइम सीन को रिक्रिएट करने के लिए कई बार बांद्रा स्थित सुशांत के घर भी जा चुकी है। 

सुशांत की बहनों के खिलाफ रिया ने दर्ज कराया केस 
रिया चक्रवर्ती ने सोमवार को सुशांत की बहन प्रियंका, मीतू सिंह और दिल्ली स्थित राम मनोहर लोहिया (RML) अस्पताल के डॉक्टर तरुण कुमार और अन्य के खिलाफ केस दर्ज कराया है। रिया का आरोप है, प्रियंका सिंह ने सुशांत के लिए फर्जी मेडिकल प्रिस्क्रिप्शन बनवाया। सुशांत को उनकी बहन गैरकानूनी ढंग से दवाईयां दे रही थी। जालसाजी, एनडीपीएस एक्ट और टेली मेडिसिन प्रैक्टिस गाइडलाइंस 2020 के तहत केस दर्ज कराया है।

अब तक की गिरफ्तारी
ड्रग्स कनेक्शन में अब तक सुशांत के स्टाफ मेंबर दीपेश सावंत, अब्दुल बासित परिहार, जैद विलात्रा, शोविक चक्रवर्ती, सैमुअल मिरांडा और अब्बास लखानी को गिरफ्तार किया जा चुका है। कैजान इब्राहिम को भी गिरफ्तार किया गया था, लेकिन शनिवार उसे कोर्ट से जमानत मिल गई। एनसीबी ने सोमवार को अनुज केसवानी को ड्रग पेडलिंग के आरोप में गिरफ्तार किया। इसका नाम कैजान इब्राहिम से पूछताछ के दौरान सामने आया था।

शोविक 9 सितंबर तक एनसीबी की रिमांड पर
शोविक, सैमुअल और दीपेश 9 सितंबर तक एनसीबी की हिरासत में हैं। एनसीबी ने शुक्रवार देर रात शोविक और सैमुअल मिरांडा को गिरफ्तार किया था। दोनों को शनिवार दोपहर कोर्ट में पेश किया गया। एनसीबी ने 7 दिन की रिमांड मांगी थी, लेकिन अदालत ने सिर्फ 4 दिन की रिमांड दी।

कमेंट करें
kTiDJ
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।