दैनिक भास्कर हिंदी: 11 लोगों की मौत के बाद मद्रास HC ने स्टरलाइट कॉपर यूनिट के विस्तार पर लगाई रोक

May 23rd, 2018

डिजिटल डेस्क, तूतीकोरिन। तमिलनाडु के तूतीकोरिन में वेदांता समूह की कंपनी के विस्तार पर मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच ने अंतरिम रोक लगा दी है। वेदांता स्टरलाइट कॉपर यूनिट के निर्माण पर रोक लगाने की मांग को लेकर हुए प्रदर्शन के दौरान मंगलवार को पुलिस की गोलीबारी में 11 लोगों की मौत हो चुकी है। 65 से ज्यादा लोग घायल भी हुए हैं, जिन्हें जिला हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है। इनमें कई घायलों की संख्या गंभीर बताई जा रही है। यहां प्रदर्शनकारी क्षेत्र के ही स्थानीय लोग हैं जो कॉपर यूनिट को बंद करने की मांग कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि प्लांट के कारण क्षेत्र में प्रदूषण काफी बढ़ गया है और लोगों को गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है। कॉपर स्मेल्टर के निर्माण को लेकर मद्रास हाईकोर्ट आदेश जारी किया है।

 

 

 

 

 

 

प्लांट के विरोध में स्थानीय लोग पहले भी प्रदर्शन कर चुके हैं। पिछले कुछ महीनों से इस प्रदर्शन ने जोर पकड़ा है और मंगलवार को यह हिंसक प्रदर्शन में तब्दील हो गया। प्लांट को बंद करने की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों की यहां सुरक्षाकर्मियों से झड़पें हुई हैं। लोगों ने पुलिस के कई वाहनों को भी निशाना बनाया है। हालत यह हो गई कि प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी, जिसमें बड़ी संख्या में लोग हताहत हुए हैं। हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस ने क्षेत्र में धारा 144 लागू की है। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलानीसामी ने तूतीकोरिन के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है।


पुलिस फायरिंग में हुई मौतों पर सीएम पलानीस्वामी ने न्यायिक जांच के आदेश भी दे दिए हैं। उन्होंने हिंसा में जान गंवाने वालों के परिजनों को 10-10 लाख रुपए और घायलों को 3-3 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया है। साथ ही पुलिस कार्रवाई में मारे गए लोगों के परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की भी घोषणा की है।

 

 

तूतीकोरिन में पुलिस फायरिंग से हुई मौतों पर डीएमके नेता स्टालिन ने शोक जताया है। उन्होंने बुधवार को पीड़ित परिवारों से मिलने की बात कही है। स्टालिन ने कहा है कि तूतीकोरिन की घटना के बाद उन्होंने कर्नाटक में होने वाले एच. डी. कुमारास्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में जाने का कार्यक्रम रद्द कर दिया है।

 

साउथ के सुपरस्टार और राजनीति में एंट्री की घोषणा कर चुके रजनीकांत और कमल हासन ने भी तूतीकोरिन में पुलिस फायरिंग में हुई मौतों पर दुख जताया है। उन्होंने इस हिंसक प्रदर्शन के लिए तमिलनाडु सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पुलिस कार्रवाई में 11 की मौत को राज्य प्रायोजित आतंकवाद करार दिया है।

 



बता दें कि तूतीकोरिन में स्टरलाइट कॉपर यूनिट के खिलाफ पिछले 3 महीनों में प्रदर्शन तेज हुआ है। इसका बड़ा कारण प्लांट द्वारा उत्पादन बढ़ाने की घोषणा है। प्लांट को इसके लिए परमिट भी मिल गया है। कई दिनों से जारी विरोध को देखते हुए मद्रास हाईकोर्ट के आदेश के बाद कॉपर यूनिट को सुरक्षा भी मुहैया कराई गई थी।