दैनिक भास्कर हिंदी: बाहुबली के टोटल कलेक्शन से भी कम है आंध्र प्रदेश का फंड: जयदेव गल्ला

February 8th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश को फंड के लिए केन्द्र और तेलुगू देशम पार्टी के बीच चल रही लड़ाई ने अब फिल्मी मोड़े ले लिया है। आम बजट में आंध्रप्रदेश की अनदेखी पर तेलुगू देशम पार्टी के सांसद जयदेव गल्ला ने कहा कि जितना केंद्र सरकार ने प्रदेश सरकार को दिया है, उससे कही ज्यादा तो फिल्म बाहुबली का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन है। उन्होंने कहा कि अगर वादे पूरे नहीं किए गए तो अगले चुनाव में भाजपा को कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। इससे अन्य सहयोगी दलों में भी गलत संदेश जाएगा। सरकार के गठबंधन सहयोगी ऐसी बातों से ठगा महसूस करते हैं।


 
बीजेपी से रिश्तों पर करना होगा पुर्निवचार 

 

टीडीपी सांसद जयदेव गल्ला ने कहा कि "वे सरकार और वित्त मंत्री से आंध्र प्रदेश को लेकर किए गए सभी वादों को बजट में पूरा करने की मांग करते हैं। अन्यथा हमारे पास भाजपा के साथ रिश्तों पर पुर्निवचार करने के अलावा कोई विकल्प नहीं होगा। फिल्म समीक्षकों के मुताबिक सुपरहिट फिल्म बाहुबली- 2 द कॉन्क्लूज़न का भारत और विदेश के बाजर में कुल कलेक्शन 1700 करोड़ रुपए है। लोकसभा में जयदेव गल्ला ने कहा कि आंध्र प्रदेश का बजट तेलुगू फिल्म बाहुबली के कुल कलेक्शन से भी कम है। इसके बाद तेदेपा के सदस्यों ने सदन से वाकआउट कर दिया।

 

भाजपा गठबंधन धर्म निभाए

 

जयदेव गल्ला ने कहा, ‘‘सरकार के पास यह आखिरी मौका है। उसे भाजपा गठबंधन धर्म निभाना चाहिए। आंध्रप्रदेश से किए गए वादों को पूरा किया जाए।" अगर राज्य की जनता से किए गए वादे पूरे नहीं किए जाते तो वे भाजपा  सरकार और राजग गठबंधन में क्यों रहें। उनके धैर्य की बहुत परीक्षा हो चुकी। जयदेव गल्ला ने कहा कि राजधानी अमरावती, पोलावरम, राज्य को विशेष पैकेज और रेलवे जोन को लेकर इस बार के बजट में कोई उल्लेख नहीं किया गया। अगर भाजपा सोच रही है कि वह गठबंधन टूटने के बाद आंध्र में चुनाव से पहले मजबूत हो जाएगी और तेदेपा को कमजोर कर देगी तो उसे कांग्रेस का हाल देख लेना चाहिए। 

 

वित्तीय पैकेज की मांग

 

वही भाजपा और तेदेपा के बीच संबंधों में तनाव की खबरों के बीच आंध्र प्रदेश के सीएम एन. चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि यह दो सरकारों के बीच की समस्या है जिसका हल संसद में होगा। तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) ने इससे पहले इस बात को लेकर दुख जताया था कि केंद्रीय बजट में आंध्र प्रदेश को कोई खास फायदे नहीं दिए गए। जयदेव गल्ला ने वित्त मंत्री अरुण जेटली से राज्य के लिए तुरंत वित्तीय पैकेज जारी करने की मांग की है।