दैनिक भास्कर हिंदी: J&K: लश्कर-ए-तैयबा का टॉप कमांडर नदीम अबरार अरेस्ट, कई हत्याओं और आतंकी गतिविधियों में शामिल था

June 28th, 2021

हाईलाइट

  • सुरक्षा बलों को एक बड़ी कामयाबी मिली
  • लश्कर-ए-तैयबा का टॉप कमांडर नदीम अबरार गिरफ्तार
  • अबरार को उसके करीबी सहयोगी के साथ गिरफ्तार किया गया है

डिजिटल डेस्क, जम्मू। जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को एक बड़ी कामयाबी मिली है। सोमवार को लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के टॉप कमांडर नदीम अबरार को जम्मू-कश्मीर के बडगाम जिले के परमपोरा इलाके से उसके करीबी सहयोगी के साथ गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से पिस्टल और हथगोले बरामद किए गए है। अबरार श्रीनगर-बारामूला सीमा पर कई हत्याओं और आतंकवादी गतिविधियों में शामिल था और सुरक्षा बलों पर हमलों में भी शामिल था। अबरार लश्कर से जुड़ा है, जो पाकिस्तान स्थित एक आतंकवादी संगठन है। 

 

 

इससे पहले इसी तरह की एक उपलब्धि में, मोस्ट वांटेड आतंकवादियों में से एक मुदासिर पंडित को सुरक्षाबलों ने ढेर कर दिया था। मुदासिर पंडिड जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले के सोपोर इलाके में सुरक्षा बलों के साथ रात भर हुई मुठभेड़ में मारे गए तीन आतंकवादियों में से एक था। मुठभेड़ 20 जून देर रात शुरू हुई थी। सुरक्षा बलों ने इलाके में पंडित सहित कम से कम तीन आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना के बाद इलाके की घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू किया था। पंडित इस साल मार्च में सोपोर में एक बैठक के दौरान दो भाजपा पार्षदों और एक पुलिसकर्मी की हत्या सहित कई मामलों में सुरक्षा बलों द्वारा वांटेड था।

इस बीच जम्मू में इंडियन एयरफोर्स स्टेशन पर ड्रोन से विस्फोटक गिराए जाने के एक दिन बाद रत्नुचक-कालूचक मिलिटरी एरिया में दो और ड्रोन दिखाई दिए। ड्रोन स्पॉट किए जाने के तुरंत बाद हाई अलर्ट जारी किया गया और क्विक रिएक्शन टीमों ने उन पर फायरिंग की। हालांकि दोनों फायरिंग से बचने में कामयाब रहे और ड्रोन वहां से उड़कर दूर चले गए। जम्मू में डिफेंस पीआरओ लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा, सैनिकों की सतर्कता से हमला विफल हो गया। सुरक्षा बल हाई अलर्ट पर हैं और तलाशी अभियान जारी है।

खबरें और भी हैं...