comScore

उद्धव बोले बालासाहेब को दिया था वचन, एक दिन हमारे पास शिवसेना का CM होगा

उद्धव बोले बालासाहेब को दिया था वचन, एक दिन हमारे पास शिवसेना का CM होगा

हाईलाइट

  • मुख्यमंत्री पद पर दावा कर उद्धव ठाकरे ने बढ़ाई उलझन
  • रंगशारदा सभागार में पार्टी शिवसेना नेताओं को संबोधित किया
  • कहा सत्ता आती-जाती रहती है लेकिन हम न्याय के लिए लड़ें

डिजिटल डेस्क, मुंबई। शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा है कि महाराष्ट्र में शिवसेना का मुख्यमंत्री बनवाने का जो वचन मैंने बाला साहेब को दिया था, उसे पूरा करना है। हालांकि उन्होंने भाजपा के साथ गठबंधन टूटने की संभावना से इंकार करते हुए कहा कि यहां 288 विधानसभा क्षेत्रों के इच्छुक उम्मीदवारों को बुलाने का यह मतलब नहीं है कि युति टूट रही है। उद्धव ने कहा कि एक-दो दिनों के भीतर शिवसेना-भाजपा युति का एलान कर दिया जाएगा। 

सपना पूरा करने का दिया था वचन
शनिवार को रंगशारदा सभागार में पार्टी शिवसेना नेताओं को संबोधित करते हुए उद्धव ने कहा कि इस बार मुझे सत्ता चाहिए। उद्धव ने कहा कि मैंने शिवसेना प्रमुख बाला साहेब के हाथ में हाथ देकर उन्हे वचन दिया था कि एक न एक दिन महाराष्ट्र में शिवसेना का मुख्यमंत्री का सपना पूरा करूंगा। उन्होंने कहा कि सत्ता आती-जाती रहती है लेकिन हमें न्याय के लिए लड़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस बार मुझे सत्ता चाहिए। 

उन्होंने कहा कि गठबंधन को लेकर मेरी भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से सकारात्मक बातचीत हो रही है। कुछ सीटों को लेकर पेंच हैं लेकिन उसे जल्द सुलझा लिया जाएगा। हम दोस्ती करते हैं तो दिल से करते हैं। उन्होंने कहा, "मैं महाराष्ट्र में सत्ता चाहता हूं लिहाजा मैंने सभी 288 सीटों के इच्छुकों को बुलाया है। मैं सभी निर्वाचन क्षेत्रों में पार्टी को मजबूत करना चाहता हूं। 

भाजपा का समर्थन मिले
उन्होंने कहा है कि अगर गठबंधन होता है तो शिवसेना, भाजपा उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करेगी, लेकिन शिवसेना के उम्मीदवारों को भी भाजपा का समर्थन मिलना चाहिए। कार्यकर्ताओं से पार्टी और सहयोगी दलों के प्रति निष्ठावान रहने का आह्वान करते हुए उद्धव ने कहा कि कि मैं यह सुनिश्चित करना चाहता हूं कि जिन क्षेत्रों (विधानसभाओं) में शिवसेना को चुनाव लड़ना है वहां हमारी पूरी चुनावी तैयारी हो। 

वहीं उन्होंने राकांपा नेता अजित पवार पर कटाक्ष करते हुए उद्धव ने कहा कि ' मैं राजनीति छोड़कर किसानी नहीं करुंगा। मैं शिवसैनिक को रूप में काम करुंगा।'अजित पवार ने शुक्रवार को विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था।

कमेंट करें
sy1nO