दैनिक भास्कर हिंदी: किसानों को बड़ा तोहफा, मोदी कैबिनेट ने बढ़ाया खरीफ फसलों का समर्थन मूल्य

July 4th, 2018

हाईलाइट

  • सरकार ने खरीफ की 14 फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ा दिया है।
  • धान का समर्थन मूल्य 200 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाया गया है।
  • बुधवार को हुई मोदी कैबिनेट की बैठक में इस फैसले पर मुहर लगी।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर मोदी सरकार लगातार किसानों को खुश करने की कोशिश कर रही है। बुधवार को भी सरकार ने किसानों को बड़ी सौगात दी। केंद्रीय कैबिनेट ने खरीफ की फसलों के नए समर्थन मूल्य को मंजूरी दे दी है। सरकार ने खरीफ की 14 फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाया है। कैबिनेट बैठक के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि सरकार ने लागत के 1.5 गुना MSP देने का जो वादा किया था, आज उसे पूरा किया गया है।

 

 

 

 

 

प्रेस कॉन्फ्रेंस में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने MSP में की गई बढ़ोतरी को ऐतिहासिक फैसला बताया है। उन्होंने कहा इस देश का सबसे बड़ा प्रोड्यूसर, कन्ज्यूमर और कस्टमर किसान होता है, लेकिन किसानों को कभी उसकी कीमत नहीं मिली। मोदी जी इसको समझा है और किसानों को उसकी लागत का डेढ़ गुना दिया जाएगा। 


 

 

रागी की MSP में सबसे ज्यादा बढ़ोत्तरी


कैबिनेट ने खरीफ की 14 फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) में बढ़ोत्तरी की है। सबसे ज्यादा वृद्धि रागी में की गई है। रागी का MSP 900 रुपये बढ़ाकर 27,00 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है। इस वृद्धि से सरकार के खजाने पर 33 हजार 500 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। बुधवार को हुई मोदी कैबिनेट की बैठक में इस फैसले पर मुहर लगी है। 

 

 

करोड़ों  किसानों को होगा फायदा

वहीं धान का समर्थन मूल्य 200 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाया गया है। धान का समर्थन मूल्य पहले 1550 रुपए प्रति क्विंटल था, अब 1750 रुपए प्रति क्विंटल हो गया है। सरकार के इस फैसले से देश के करीब 12 करोड़ किसानों को सीधा फायदा होगा। मोदी सरकार ने इसी साल के बजट में सभी फसलों के समर्थन मूल्य को उसकी लागत से डेढ़ गुना करने की घोषणा की थी। 

 

 

यूपीए सरकार में की गई थी धान की MSP में बढ़ोत्तरी

इससे पहले 2008-09 में यूपीए की सरकार में धान का समर्थन मूल्य 155 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ाया गया था। अब 10 साल बाद मोदी सरकार ने खरीफ की फसलों के समर्थन मूल्य में बढ़ोत्तरी की है। मोदी सरकार ने धान की MSP में 200 रुपए का इजाफा कर अब तक की सबसे अधिक बढ़ोत्तरी की है।  
 

 

पीएम ने पिछले हफ्ते की थी घोषणा

बता दें कि पिछले हफ्ते पीएम मोदी ने ऐलान किया था कि कैबिनेट की अगली बैठक में MSP में कम से कम डेढ़ गुना वृद्धि को मंजूरी दी जाएगी। वहीं जिन खरीफ फसलों की MSP पहले से उत्पादन लागत का डेढ़ गुना है, उनमें मामूली वृद्धि होगी। 

 

2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य

पीएम मोदी का लक्ष्य है 2022 तक किसानों की आय दोगुनी की जाए। वहीं सरकार के इस फैसले का असर हरियाणा, यूपी, पंजाब, महाराष्ट्र, गुजरात समेत कई प्रदेशों में पड़ेगा। यहां किसानों के साथ ही लोकसभा सीटें भी ज्यादा हैं।