दैनिक भास्कर हिंदी: बंगाल: TMC-BJP के बीच झड़प में चार की मौत, बीजेपी ने ममता को ठहराया जिम्मेदार

June 9th, 2019

हाईलाइट

  • पश्चिम बंगाल के नॉर्थ 24 परगना में टीएमसी-बीजेपी के बीच झड़प
  • टीएमसी के एक और बीजेपी के तीन कार्यकर्ता की मौत 
  • बीजेपी का दावा- बाशीरहाट में टीएमसी ने चार कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या की
  • मुकुल रॉय ने कहा- सांसदों की टीम घटनास्थल का दौरा कर गृह मंत्री को रिपोर्ट भेजेंगे 

डिजिटल डेस्क, कोलकाता। पश्चिम बंगाल में बीजेपी और टीएमसी के बीच सियासी हिंसा बढ़ती ही जा रही है। शनिवार को बंगाल के नॉर्थ 24 परगना जिले में एक बार फिर TMC और BJP के बीच हिंसक झड़प हुई। जिसमें चार लोगों की मौत हो गई। खबर के मुताबिक, टीएमसी के एक कार्यकर्ता और बीजेपी के तीन कार्यकर्ताओं की मौत हुई है। इस घटना के लिए बीजेपी ने सीएम ममता बनर्जी को जिम्मेदार ठहराया है।

दरअसल लोकसभा चुनाव के दौरान से ही बंगाल में हिंसा जारी है। शनिवार की शाम बशीरहाट में संदेशखली के नैजाट थानाक्षेत्र में पार्टी झंडा लगाने को लेकर बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई। इसमें चार लोगों की मौत हो गई, जबकि तीन लोग घायल हो गए। बीजेपी ने टीएमसी पर आरोप लगाते हुए दावा किया है कि, पार्टी के तीन कार्यकर्ताओं की गोलीमार कर हत्या की गई है।  बीजेपी नेता सायंतन बसु ने बताया, उनकी पार्टी के तीन कार्यकर्ता- सुकांता मंडल, प्रदीप मंडल और शंकर मंडल की गोली मारकर हत्या की गई है। ये लोग टीएमसी कार्यकर्ताओं को भाजपा के झंडे हटाने से रोक रहे थे। जानकारी के मुताबिक, कयूम मुल्‍ला नाम का टीएमसी समर्थक भी मारा गया है।

बीजेपी नेता मुकुल रॉय ने इस घटना के लिए टीएमसी और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को जिम्मेदार ठहराया है। रॉय ने दावा किया है कि, टीएमसी के गुंडों ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमला किया और बाशीरहाट के संदेशखली में हमारे 4 कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या कर दी गई। उनकी नेता और सीएम आतंक के शासन में लिप्त हैं। 

मुकुल रॉय के नेतृत्व में बीजेपी का प्रतिनिधिमंडल आज बशीरहाट के संदेशखली का दौरा करेगा। इसके बाद गृह मंत्री को रिपोर्ट भेजेंगे। मुकुल रॉय ने इस घटना का लोकतांत्रिक तरीके से विरोध करने की बात कही है। वहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने इस पूरे मामले में कार्यकर्ताओं को संयम बरतने और बंगाल बीजेपी यूनिट को सतर्क रहने को कहा है। शनिवार को ही बंगाल के साउथ दिनाजपुर में भी बीजेपी सांसद दिलीप घोष की विजयी रैली को रोकने पर कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प हो गई थी। इसमें एक पुलिस सब इंस्पेक्टर और दो वॉलंटियर घायल हो गए।  

दिलीप घोष ने बताया, हम लोगों से मिलकर वोट देने के लिए उनका धन्यवाद कर रहे थे। पुलिस ने लोगों से मिलने की अनुमति नहीं दी, कई स्थानों पर धारा 144 लगा दी गई। टीएमसी समर्थक हम पर हमला कर रहे हैं, कुछ समर्थक और पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं।

गौरतलब है कि ममता गुरुवार को नॉर्थ 24 परगना के निमता में मारे गए टीएमसी नेता के घर पहुंची थीं। इस दौरान उन्होंने कहा था, बीजेपी ने विजय जुलूसों के नाम पर हुगली, बांकुरा, पुरुलिया और मिदनापुर में अव्यवस्था फैलाई है। अब से एक भी विजय जुलूस नहीं निकलेगा।


 

खबरें और भी हैं...