comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Year Ender 2019: इस साल गूगल पर सबसे ज्यादा सर्च किए गए भारत के ये मुद्दे

Year Ender 2019: इस साल गूगल पर सबसे ज्यादा सर्च किए गए भारत के ये मुद्दे

हाईलाइट

  • हर साल की तरह इस बार भी गूगल ने 'ईयर इन सर्च' जारी किया
  • भारत के टॉप टॉपिक्स में सबसे ऊपर क्रिकेट वर्ल्ड कप रहा

डिजिटल डेस्क। चंद दिनों में साल 2019 बीतने वाला है। दुनिया भर में क्या हो रहा है, कहां हो रहा है, ये सब सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल को पता होता है। यही कारण है कि किसी भी जानकारी के लिए यूजर्स सबसे पहले गूगल बाबा की शरण में जाते हैं। हर साल की तरह गूगल ने इस साल भी 'ईयर इन सर्च' जारी किया है। इसमें बताया गया है कि लोगों ने साल 2019 में अलग-अलग कैटेगिरी में सबसे ज्यादा क्या सर्च किया है। आइए हम आपको बताते हैं कि इस साल लोगों द्वारा गूगल पर सबसे ज्यादा भारत के किन मुद्दों को सर्च किया गया है -

1. क्रिकेट वर्ल्ड कप :

भारत में गूगल पर सबसे ज्यादा सर्च किया जाने वाला टॉपिक क्रिकेट वर्ल्ड कप रहा है। यूं तो भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी है, लेकिन यहां क्रिकेट के फैंस हॉकी से भी ज्यादा हैं। इस साल मई से जुलाई के बीच हुए आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप में लोगों को भारत के जीतने की पूरी उम्मीद थी। इसी जिज्ञासा के चलते लोगों ने इस टॉपिक को गूगल पर सबसे ज्यादा सर्च किया, हालांकि भारत वर्ल्ड कप के फाइनल तक नहीं पहुंच सका। आईसीसी के इस टूर्नामेंट की ट्रॉफी इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड को हराकर अपने नाम की। बता दें कि इंगलैंड ने पहली बार वर्ल्ड कप में जीत दर्ज की।

2. लोकसभा चुनाव :

क्रिकेट वर्ल्ड कप के बाद लोगों की रूचि लोकसभा चुनाव में रही। लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल से 19 मई तक सात चरणों में आयोजित किया गया, जिसके नतीजे 23 मई को घोषित किए गए। यह परिणाम चौंकाने वाले थें। एक तरफ भारत की सबसे पहली राजनीतिक पार्टी कांग्रेस, जिसने करीब 60 सालों तक भारत में एकतरफा शासन किया, वह महज 52 सीटों पर ही सिमट गई। हालांकि यह कांग्रेस के लिए 2014 में हुए लोकसभा चुनाव के नतीजे से बेहतर परिणाम था। 2014 में कांग्रेस को 44 सीटें प्राप्त हुई थीं। इस बार 8 सीटों का इजाफा हुआ।

वहीं दूसरी तरफ नोटबंदी और जीएसटी जैसे मुद्दों पर विरोध के बावजूद भी भारतीय जनता पार्टी ने 300 का आंकड़ा पार किया। जबकि सरकार बनाने के लिए लोकसभा की 543 सीटों में से 272 सीटों की ही जरूरत होती है। इस बार भाजपा ने कुल 303 सीटों पर विजयलक्ष्मी का हार पहना, जबकि 2014 के चुनाव में यह आंकड़ा 282 का था। 2014 की तरह इस बार भी भाजपा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चुनाव लड़ा और अंत में नरेंद्र मोदी ने दूसरी बार भारत के प्रधानमंत्री पद की शपथ ग्रहण की। दूसरी बार सत्ता में आने के बाद भाजपा की केंद्र सरकार ने ऐसे विवादित मुद्दों को खत्म किया गया, जो दशकों से चले आ रहे थें।

3. चंद्रयान-2 :

लोकसभा चुनाव के बाद गूगल पर चंद्रयान-2 ट्रैंडिंग में बना रहा। भारत के सबसे महत्वाकांक्षी अंतरिक्ष अभियानों में से एक चंद्रयान-2 था। 3840 किलोग्राम वजनी चंद्रयान-2 को 22 जुलाई को दोपहर 2.43 बजे श्रीहरिकोटा (आंध्रप्रदेश) के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से जीएसएलवी MK-III M1 रॉकेट से अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया था। प्रक्षेपण के 17 मिनट बाद यान सफलतापूर्वक पृथ्वी की कक्षा में पहुंच गया था। 2 सितंबर को दोपहर 01 बजकर 15 मिनट पर चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर को लैंडर 'विक्रम' से अलग किया गया। 

लैंडर और रोवर को 7 सितंबर को चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग करनी थी। चंद्रमा की सतह से 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई तक विक्रम सामान्य तरीके से नीचे उतरा। इसके बाद लैंडर का धरती से संपर्क टूट गया। हालांकि चंद्रयान का मुख्य अंतरिक्ष यान 'ऑर्बिटर' अभी भी चंद्रमा की कक्षा में है और वह कम से कम 7 वर्ष तक चंद्रमा के चारों ओर चक्कर लगाना जारी रखेगा। ऑर्बिटर में लगे आठ पेलोड 100 किलोमीटर की दूरी से अलग-अलग डाटा इकट्ठा करेंगे। इस मिशन को 95% सफल माना गया। बता दें कि इस मिशन को 18 सितंबर, 2008 को तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मंजूरी दी थी।

4. कबीर सिंह :

अक्सर बॉक्स ऑफिस में फ्लॉप होने वाली फिल्में ही ट्रोलिंग का शिकार होती हैं, लेकिन साल की हिट फिल्मों में शुमार होने वाली शाहिद कपूर और कियारा आडवानी स्टारर फिल्म 'कबीर सिंह' को भी जबरदस्त ट्रोल किया गया। इसी के चलते यह फिल्म सर्च किए गए टॉपिक्स में चौथे स्थान पर रही। काफी ट्रोल होने के बावजूद भी इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर 379.02 करोड़ रुपए की कमाई की। बता दें कि यह साउथ की फिल्म अर्जुन रेड्डी की कॉपी थी।

5. एवेंजर्स एंडगेम :

हॉलीवुड की एवेंजर्स सीरीज का आखिरी पार्ट रही एवेंजर्स एंडगेम का लोगों ने एक साल तक बेसब्री से इंतजार किया। इस सीरीज को लेकर लोगों में हमेशा से ही क्योरिसिटी रही है। यह सर्च किए गए टॉपिक्स में 5वें स्थान पर रही। इतना ही नहीं मार्वेल स्टूडियोस की ब्लॉकबस्टर की इस फिल्म को पीपल्स च्वॉइस अवार्ड 2019 में मूवी ऑफ 2019 का खिताब दिया गया। 26 अप्रैल को रिलीज हुई फिल्म ने पहले ही दिन में भारत में करीब 45 करोड़ रुपए की कमाई कर ली थी।

6. अनुच्छेद 370 :

अगस्त की 5वीं तारीख, देश के इतिहास के पन्नों पर सुनहरे अक्षरों पर दर्ज हो गई। केंद्र सरकार ने कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 35 A और अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करि दिया। अब जम्मू और कश्मीर राज्य नहीं है, बल्कि इसे दो केंद्रशासित प्रदेशों (UT) में विभाजित कर दिया गया है। पहला जम्मू-कश्मीर और दूसरा UT लद्दाख को बनाया गया।

बता दें कि अनुच्छेद 370 दशकों से अटका हुआ मुद्दा बना रहा। जब अनुच्छेद 370 पर देश में बहस चल रही थी, उस समय भारतीय राजनीति में काफी तनातनी का माहौल बना। इस दौरान न सिर्फ देश की बल्कि दुनिया के कई देशों की निगाहें इस मुद्दे पर बनी रहीं और लोगों ने गूगल पर इसे सर्च किया।

कमेंट करें
wYgVK
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।