comScore

मुंबई में हुए 2704 हादसे : पांच वर्षों में इमारत गिरने से गई 234 लोगों की जान  

मुंबई में हुए 2704 हादसे : पांच वर्षों में इमारत गिरने से गई 234 लोगों की जान  

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महानगर में इमारत गिरने की घटनाएं नई नहीं हैं। आंकड़ों के मुताबिक पिछले साढ़े पांच सालों में मुंबई में इमारत से जुड़े 2704 हादसों में 234 लोगों की जान गई है और 840 लोग जख्मी हुए हैं। अब भी महानगर ने बड़ी संख्या में ऐसी इमारतें हैं जिन्हें खतरनाक तो घोषित कर दिया गया है लेकिन प्रशासन उन्हें खाली नहीं करा पा रहा। आरटीआई कार्यकर्ता शकील अहमद शेख ने बताया कि साल 2019-20 के लिए मुंबई महानगर पालिका ने 499 इमारतों को सी कैटेगरी में खतरनाक घोषित किया है। उन्होंने बताया कि साल 2014 में बांबे हाईकोर्ट ने अपने आदेश में कहा था कि मुंबई मनपा हर साल बरसात से पहले खतरनाक इमारतों की पहचान करे और इनकी सूची वेबसाइट पर प्रकाशित करे।

अदालत ने खतरनाक इमारतों की बिजली, पानी कनेक्शन काटने और पुलिस की मदद से उसे जबरन खाली करने को भी कहा था लेकिन प्रशासन ने उस पर अमल नहीं किया। शेख के मुताबिक कुछ दिनों पहले ही उन्होंने संबंधित अधिकारियों को मामले में ईमेल भेजकर शिकायत की थी लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। उन्होंने कहा कि आतंकी हमलों से कई गुना ज्यादा लोगों की मौत इमारत दुर्घटनाओं में हो रही है, लेकिन प्रशासन अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा रहा है। हैरानी की बात ये है कि हाईकोर्ट के आदेश का भी पालन नहीं हो रहा है। महानगर में पुरानी और जर्जर इमारतों की कुल संख्या 14227 है। खास कर कोलाबा से भायखला इलाके में पुरानी इमारतों की संख्या काफी ज्यादा है। पर्यायी व्यवस्था न होने के डर से लोग जर्जर हो चुकी इमारतों को भी खाली करने को तैयार नहीं होते। 

कमेंट करें
XsrNc