comScore

मूक-बधिर महिला को अगवा कर दुष्कर्म करने वाले गिरफ्तार, फरार हत्यारा भी चढ़ा हत्थे

मूक-बधिर महिला को अगवा कर दुष्कर्म करने वाले गिरफ्तार, फरार हत्यारा भी चढ़ा हत्थे

डिजिटल डेस्क, मुंबई। अगवा कर 25 वर्षीय मूक बधिर महिला से बलात्कार के आरोप में खेरवाडी पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पीड़िता बांद्रा इलाके में स्थित एक हाईप्रोफाइल सोसायटी में स्थित घर में बतौर नौकरानी काम करती थी। वह अचानक गायब हो गई और कई दिन नहीं लौटी तो मालिक ने विरार में रहने वाले उसके अभिभावकों से संपर्क किया। इसके बाद मामले की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई गई। बाद में महिला मिली तो उसने पुलिस को आपबीती लिखकर बताई। गिरफ्तार आरोपियों के नाम लखन काले (20) और संदीप कुरहाडे (22) है। दोनों आरोपी ठाणे के रहने वाले हैं। संदीप का दावा है कि वह महिला को पसंद करता था और उससे शादी करना चाहता था। इसीलिए वह रविवार को महिला को लेकर अपने अभिभावकों से मिलाने गया था लेकिन उन्होंने शादी की मंजूरी देने से इनकार कर दिया। इसके बाद उसने अपने दोस्त लखन को महिला को बांद्रा छोड़कर आने को कहा लेकिन  लखन उसे अपने साथ ठाणे में एक कमरे में ले गया और उसके साथ बलात्कार किया। संदीप के मुताबिक जब उसे इसकी जानकारी मिली तो वह महिला के पास गया और उसे अपने साथ लेकर बांद्रा जाने के लिए ट्रेन पकड़ी। इस बीच पुलिस ने महिला के मोबाइल लोकेशन के आधार पर उसे दादर रेलवे स्टेशन से ढूंढ निकाला और उसके साथ मौजूद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद महिला ने पुलिस को लिखकर अपने साथ हुए दुष्कर्म की जानकारी दी इसके आधार पर पुलिस ने आईपीसी की धारा 366, 376 और 34 के तहत एफआईआर दर्ज कर लिया। इसके बाद लखन को भी गिरफ्तार कर लिया गया। कोर्ट में पेशी के बाद दोनों आरोपियों को 15 अक्टूबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। 

 

पांच साल से फरार हत्या आरोपी गिरफ्तार

सामूहिक बलात्कार और हत्या जैसे जघन्य अपराधों को अंजाम देकर पिछले पांच सालों से फरार एक आरोपी को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी को अपराध शाखा ने उस वक्त दबोचा जब वह तमिलनाडु में दोहरे हत्याकांड की वारदात अंजाम देने के बाद छिपने के लिए मुंबई पहुंचा था। आरोपी को आगे की कार्रवाई के लिए आरे पुलिस के हवाले कर दिया गया है। गिरफ्तार आरोपी का नाम अरुमुगम राजा जोथीमाणी देवेंद्र उर्फ कुंदुमणि राजा उर्फ पीटर राजा (33) है। आरोपी ने साल 2014 में अपने साथियों के साथ मिलकर गोरेगांव के आरे इलाके में ही रहने वाले एक दंपत्ति के घर में घुस कर पति को बुरी तरह जख्मी कर दिया था और उसकी पत्नी के साथ सामूहिक बलात्कार किया था। आरोपियों ने बलात्कार के दौरान महिला का अश्लील वीडियो बना लिया था और पुलिस से शिकायत करने पर उसे वायरल करने की धमकी दी थी। आरोपियों ने घर में लूटपाट की और फरार हो गए थे। मामले में दूसरे आरोपी तो पुलिस के हत्थे चढ़ गए थे लेकिन अरुमुगम लगातार पुलिस को चकमा देने में कामयाब हो रहा था। इसके अलावा इसी साल आरोपियों ने हवाला कारोबार में शामिल एक व्यक्ति को उसकी कार में ही अगवा कर उसकी हत्या कर दी थी और पैसे लूट लिए थे। यह वारदात मुंबई से सटे मीरारोड इलाके में अंजाम दी गई थी। तमिनलाडु में रह रहे आरोपी ने वहां भी एक शख्स की हत्या की और भागकर मुंबई के कांदीवली इलाके में रहने आ गया। आरोपी ने पुलिस से बचने के लिए हुलिया भी बदल लिया था लेकिन गुप्त सूचना के बाद जाल बिछाकर अपराध शाखा की यूनिट 12 ने उसे दबोच लिया। सीनियर इंस्पेक्टर सागर शिवलकर के मुताबिक आरोपी के खिलाफ जघन्य अपराध के 11 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। 


 

कमेंट करें
Wf8RQ