comScore

शहर में 200 कृत्रिम तालाब तैयार, 100 और लगेंगे, विसर्जन का सिलसिला जारी

शहर में 200 कृत्रिम तालाब तैयार, 100 और लगेंगे, विसर्जन का सिलसिला जारी

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर में गणेशोत्सव  चल रहा है। इस बीच कई जगह विसर्जन भी शुरू हो गया है। शहर के तालाबों को प्रदूषित होने से बचाने के लिए नागपुर महानगरपालिका ने फुटाला तालाब छोड़ अन्य सभी तालाबों में मूर्तियों के विसर्जन पर रोक लगा दी है। विशेष यह कि कृत्रिम तालाबों को बढ़ावा देने के लिए नागपुर महानगरपालिका ने संपूर्ण शहर में 300 कृत्रिम तालाब लगाने का निर्णय लिया है। फिलहाल 200 कृत्रिम तालाबों की शहर में व्यवस्था की गई है। फुटाला तालाब पर अमरावती रोड की तरफ में चार बड़े कृत्रिम तालाबों की व्यवस्था की गई है एवं एयरफोर्स की तरफ आठ छोटे कृत्रिम तालाब लगाए गए हैं। हालांकि हर साल की तरह इस साल भी एक-दो स्वयंसेवी संस्थाओं को छोड़ दिया जाए तो कृत्रिम टैंकों में विसर्जन के लिए कोई आगे आकर काम करते दिखाई नहीं दे रहा है। उधर, ग्रीन विजिल फाउंडेशन के 50 स्वयंसेवक फुटाला तालाब के एयरफोर्स की तरफ विसर्जन के लिए तैनात हैं।

विसर्जन की तैयारियों का जायजा लेने पूर्व महापौर व शहर भाजपा अध्यक्ष प्रवीण दटके, विधायक प्रा. अनिल सोले, गिरीश व्यास, नगरसेवक दयाशंकर तिवारी, सुधीर राऊत पहुंचे। उन्होंने कार्य का जायजा लेकर समाधान व्यक्त किया। इससे पहले मनपा आयुक्त अभिजीत बांगर ने भी तैयारियों की समीक्षा करते हुए कार्य को सराहा। ग्रीन विजिल फाउंडेशन की टीम लीड सुरभि जैस्वाल ने बताया की इस साल नागरिक ज्यादा से ज्यादा कृत्रिम तालाब में विसर्जन कर रहे हैं। चार दिनों में अब तक कुल 2500 मूर्तियों का विसर्जन कृत्रिम तालाब में हुआ है एवं 3 टन निर्माल्य संग्रहित किया गया है। इस दौरान कमला नेहरू महाविद्यालय, एस.के. पोडवाल कामठी, सेवादल महाविद्यालय के विद्यार्थी ग्रीन विजिल फाउंडेशन का सहयोग करते दिखे। न्यूसेंस डिटेक्शन स्क्वॉड के अधिकारी भी तैनात हैं। शहर में लगे कृत्रिम तालाबों को सुरक्षित मानते हुए लोग भी सहयोग दे रहे हैं। कृत्रिम तालाबों में विसर्जन के लिए लोगों की अच्छी खासी भीड़ भी जुटती देखी जा रही है।

कमेंट करें
ReG26