comScore

आजमगढ़ और मुंबई में एक साथ मतदाता नहीं रह सकते बांग्लादेशीः लोढा

आजमगढ़ और मुंबई में एक साथ मतदाता नहीं रह सकते बांग्लादेशीः लोढा

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मुंबई भाजपा के अध्यक्ष पद की कमान संभालते ही मंगल प्रभात लोढा ने बांग्लादेशी घुसपैठियों को चेतावनी दे दी। लोढा ने बांग्लादेशियों को चेताते हुए कहा कि आप उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले की मतदाता सूची में नाम रखेंगे। बांग्लादेश में वोट डालेंगे और मुंबई की मतदाता सूची में भी आपका नाम रहेगा। पर अब ऐसा नहीं चलने दिया जाएगा। यदि यहां मतदाता बनना है तो पूरे भारतीय और मुंबईकर बनकर रहो। शुक्रवार को मुंबई भाजपा कार्यालय वसंत स्मृति में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की मौजूदगी में लोढा ने मुंबई भाजपा अध्यक्ष का पदभार ग्रहण किया। इस मौके पर भाजपा के मंत्री, विधायक और पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे। लोढा ने कहा कि मुंबई में गुरुवार को एक घटना हुई जहां पर बांग्लादेशी को पकड़ने गए पुलिसरकर्मियों पर हमला कर दिया गया। ऐसी घटनाओं को हम कब तक सहन करते रहेंगे। लोढा ने कहा कि यह भारत है। यह साल 2011 में बम विस्फोट करने वालों को चेतावनी है। अब मुंबई में ऐसे लोगों का नेतृत्व है जो किसी जाति विशेष के वोटों के लिए देश के सम्मान और सुरक्षा का सौदा नहीं करते हैं। लोढा ने कहा कि श्री फडणवीस ने राष्ट्रवादी मुख्यमंत्री के रूप में प्रदेश में राष्ट्रविरोधी तत्वों को मात दी है। लोढा ने कहा कि मुंबई में भाजपा ने 36 बनाम शून्य का नारा दिया है। लेकिन इसके लिए अगले 75 दिनों में हमें परिश्रम की पराकाष्ठा तक जाना होगा। सभी को मिलकर काम करना होगा। 

मुंबई भाजपा के नवनियुक्त अध्यक्ष ने चेताया 

मुख्यमंत्री ने कहा कि अक्टूबर महीने में होने वाले विधानसभा चुनाव में हमें दिखाना है कि जनता किसके साथ है। विधानसभा चुनाव में भाजपा और शिवसेना मिलकर लड़ेगी। इसलिए चुनाव में मैच का परिणाम 36-0 शून्य करना है। मुंबई की सभी 36 सीटों को जितना है। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि साल 2014 के विधानसभा चुनाव के बाद हुए कल्याण-डोंबिवली मनपा चुनाव में अकेले लड़ने की सलाह लोढा ने ही दी थी। जिसके बाद मनपा में भाजपा के नगरसेवकों की संख्या 8 से बढ़कर 42 हो गई। उस चुनाव में भाजपा ने अपनी असली ताकत को पहचाना। मुख्यमंत्री ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछली सरकारों में मुंबई को केवल सोने का अंड़ा देने वाली मुर्गी के रूप में इस्तेमाल किया गया। कभी भी मुंबई और मुंबईवासियों का विचार नहीं किया। लेकिन हम गर्व से कह सकते हैं कि राज्य सरकार ने मुंबई वासियों को मदद की है। मुंबई के भरोसे महाराष्ट्र की आर्थिक महासत्ता खड़ी है। मुंबई के भरोसे देश के अर्थ तंत्र को गति मिलती है। 

कमेंट करें
F3PDq