comScore

कोच मिलते ही चलाएंगे रेल मार्ग पर ब्राॅडगेज मेट्रो

December 19th, 2018 18:28 IST
कोच मिलते ही चलाएंगे रेल मार्ग पर ब्राॅडगेज मेट्रो

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मध्य रेलवे के महाव्यवस्थापक देवेंद्र कुमार शर्मा ने कहा कि रेलवे मार्ग पर मेट्रो चलाने के प्रस्ताव को रेलवे ने मंजूरी दी है। महामेट्रो से कोचेस उपलब्ध होते ही रेलवे मार्ग पर ब्राॅडगेज मेट्रो सेवा शुरू की जाएगी। इटारसी-बैतूल वार्षिक निरीक्षण दौरे के बाद महाव्यवस्थापक शर्मा ने मंगलवार को नागपुर विभाग में भेंट दी। इस दौरान वे संवाददाताओं से बात कर रहे थे। नागपुर से लगे वर्धा, भंडारा, रामटेक और काटोल शहर तक रेलवे मार्ग पर मेट्रो चलाने के लिए केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी ने पहल की  है। इसके लिए अनेक बार पत्र-व्यवहार भी किया है। इतना ही नहीं, कुछ महीने पहले नागपुर के कविवर्य सुरेश भट सभागृह में प्रकल्प बाबत भारतीय रेलवे, राज्य सरकार और महामेट्रो में सामंजस्य करार भी हुआ है।

शुरू में प्रस्ताव आने पर रेलवे ने इसे हलके में लिया था। लेकिन सामंजस्य करार के बाद महाव्यवस्थापक की ओर से रेलवे मार्ग पर ब्राॅडगेज मेट्रो चलाने की योजना को गति मिलने के संकेत दिए हैं। इस प्रकल्प बाबत रेलवे की ओर से आधिकारिक तौर पर किया गया यह उनका पहला बयान है। डी.के. शर्मा ने कहा कि  करार अनुसार महामेट्रो की ओर कोचेस मिलेंगे। वह उपलब्ध होते ही सेवा भी शुरू की जाएगी। वर्ल्ड क्लास की तर्ज पर रेलवे स्टेशन के विकास के लिए पिछले वर्ष निविदा मंगवाई गई थी। लेकिन उसे बहुत ज्यादा प्रतिसाद नहीं मिला है। इसमें जगह की लीज का मुद्दा था। जिस कारण अब रेलवे स्टेशन 99 वर्ष की लीज पर देकर उसका विकास किया जाएगा। जल्द नये सिरे से निविदा निकाली जाएगी। 

रेलवे में मेगा पदभर्ती 
महाव्यवस्थापक श्री शर्मा ने कहा कि रेलवे की ओर से रिकार्ड एक लाख पद भर्ती की प्रक्रिया शुरू है। 6 महीने में प्रक्रिया पूरी कर नए कर्मचारी आएंगे। कर्मचारियों की कार्यकुशलता बढ़ाकर मर्यादित श्रम में अधिक काम अनुसार अधिक काम करवाकर लेने को महत्व दिया जाएगा। महिला सुरक्षा को महत्व देकर हेल्पलाइन क्रमांक को प्रोत्साहन दिया जाएगा। 

नागपुर-सेवाग्राम चौथे रेल मार्ग में भूमि अधिग्रहण का ‘रोड़ा’
बहुप्रतिक्षित नागपुर-सेवाग्राम के बीच तीसरी और चौथी लाइन चरणबद्ध तरीके से मंजूर हुई है। एक समय पर दोनों रेलवे लाइन का काम होने से खर्च में बचत होगी, यही उद्देश्य सामने है। तीसरी रेलवे लाइन का काम तीव्र गति से शुरू है, लेकिन चौथी रेलवे लाइन के काम में भूमि अधिग्रहण में दिक्कतें आने की जानकारी, मध्य रेलवे के महाव्यवस्थापक डी.के. शर्मा ने दी। डी.के. शर्मा ने आगे कहा कि नागपुर सेवाग्राम के बीच तीसरे रेलवे मार्ग पर तिगांव से 20 किमी का सेक्शन पहले चरण में शुरू किया जाएगा। अगले वर्ष तक 45 किमी का सेक्शन शुरू होगा। चौथी रेलवे लाइन के लिए भूमि अधिग्रहण करने का काम शुरू है।

होगा भूमि अधिग्रहण
भूमि अधिग्रहण में कुछ किसानों की जमीन भी आ रही है। उन्होंने विश्वास जताया कि आगामी ढाई साल में यह मार्ग पूरा हो जाएगा।  मध्य रेलवे के नागपुर विभाग में नागपुर-सेवाग्राम सेक्शन सबसे व्यस्त मार्ग है। इस सेक्शन में क्षमता से अधिक प्रमाण में रेलवे गाड़ियां दौड़ रही है। जिस कारण भविष्य की जरूरतों को देखते हुए इस सेक्शन में तीसरी और चौथी रेलवे लाइन को मंजूरी दी गई। इसके बाद चौथी रेलवे लाइन को भी मंजूर किया गया।

78 कि.मी लंबे इस सेक्शन में शुरुआत में तीसरी लाइन का काम शुरू हुआ। इसके साथ चौथी रेलवे लाइन का काम शुरू होने से खर्च में बचत होगी। अजनी रेलवे स्टेशन को मल्टीमॉडल हब के रुप में विकसित किया जाएगा। जल्द से वहां से अन्य रेलवे गाड़ियां भी शुरू की जाएंगी। मध्यवर्ती नागपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म का सरलीकरण की योजना है। इसी दौरान वॉशेबल एप्रोन का काम किया जाएगा। मुख्यालय के मुख्य ट्रैक अभियंता ने बताया कि अति व्यस्तता के प्लेटफार्म नंबर एक पर ब्लॉक देना संभव नहीं है। 
 

कमेंट करें
4u8RY