comScore

13 जून को गुजरात तट से टकराएगा तूफान, मोदी बोले- केंद्र की है नजर

13 जून को गुजरात तट से टकराएगा तूफान, मोदी बोले- केंद्र की है नजर

हाईलाइट

  • उत्तर-पश्चिम की तरफ से गुजरात की ओर तेजी से बढ़ रहा तूफान
  • मौसम विभाग के अनुसार आज यह तूफान विराट रूप ले सकता है
  • 13 जून की सुबह यह तूफान गुजरात के महुवा इलाकों से गुजरेगा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। चक्रवाती तूफान 'वायु' उत्तर-पश्चिम की तरफ से गुजरात की ओर तेजी से बढ़ रहा है। मौसम विभाग के अनुसार आज बुधवार को यह तूफान विराट रूप ले सकता है। वहीं इस तूफान के साथ देश के पश्चिमी तटों में भारी बारिश हो सकती है। लक्षद्वीप द्वीप समूह के पास अरब सागर के ऊपर बना चक्रवाती तूफान बना है, जो सोमवार को एक गहरे दबाव में बदल गया। मौसम संबंधी हालिया रिपोर्ट के अनुसार, चक्रवात 13 जून तक पहुंच सकता है।

पीएम मोदी ने किया ट्वीट
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चक्रवात वायु को लेकर ट्वीट किया है। जिसमें उन्होंने लिखा कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार मिलकर इस पर नजर बनाए हुए हैं। NDRF के अलावा अन्य सभी एजेंसियां लोगों की सहायता के लिए तैयार हैं।

तूफान की रफ्तार
‘वायु’ चक्रवात से निपटने के लिए गुजरात प्रशासन हाईअलर्ट पर है, जिसके गुरुवार को वेरावल के पास समुद्र तट पर दस्तक देने की आशंका है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि गुरुवार को यह तूफान अपने चरम पर होगा। मौसम विभाग की मानें तो  वायु के 13 जून को तड़के गुजरात तट पर पहुंचने की आशंका है। 13 जून की सुबह यह तूफान पोरबंदर और महुआ के बीच वेरावल तथा दीव क्षेत्र के आसपास समुद्र तट से टकरा सकता है। इससे गुजरात के तटीय जिलों में भारी वर्षा होने की संभावना है।

110-120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आने वाला तूफान 13 जून की सुबह 135 किलोमीटर प्रति घंटे की गति पकड़ सकता है। भारत के मौसम विभाग ने चक्रवात वायु पर एक ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। साथ ही मछुआरों के लिए 13 जून तक अलर्ट जारी किया गया है और उन्हें समुद्र में न जाने की चेतावनी दी गई है। 

मिल सकती है राहत
IMD के पूर्वानुमान विभाग के प्रमुख डी शिवानंद पाई के अनुसार इस चक्रवात से मानसून लेट हो सकता है। हालांकि इसके उत्तर की ओर की हलचल वाली नम समुद्री हवाओं को गुजरात और राजस्थान की तरफ से उत्तर भारत की तरफ मोड़ने की संभावना है। यह अपने साथ हल्की बारिश ला सकती है और जिससे इस क्षेत्र में गर्म तापमान से राहत मिल सकती है। 

NDRF की टीमें तैनात
चक्रवात ततूफान से निपटने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने गुजरात और दीव में 39 टीमों को पहले से तैनात कर दिया है। हर टीम में करीब 45 कर्मी हैं। बचाव दल नावों, पेड़ काटने वाली मशीनों और दूरसंचार उपकरणों आदि से लैस हैं। थलसेना की 34 टीमों को भी तैयार रखा गया है। 
 

कमेंट करें
CasHS