comScore

शुरू हुई अमरनाथ यात्रा, पहला जत्था रवाना, सुरक्षा के कड़े इंतजाम


हाईलाइट

  • अमरनाथ यात्रा शुरू
  • श्रद्धालुओं का पहला जत्था रवाना
  • सुरक्षा के कड़े इंतजाम

डिजिटल डेस्क, जम्मू। जम्मू बेस कैंप से रविवार को अमरनाथ यात्रा के लिए श्रद्धालुओं का पहला जत्था रवाना हो गया। यात्रियों के सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के सलाहकार केके शर्मा ने हरी झंडी दिखाकर यात्रियों को रवाना किया। 

यात्रा के पूरे मार्ग में श्रद्धालुओं के सुरक्षा के प्रबंध किए गए हैं। सुरक्षाबल चप्पे चप्पे पर तैनात है। हर आने जाने वाले लोगों की गहन जांच की जा रही है। इस वर्ष की अमरनाथ यात्रा 1 जुलाई से शुरू होकर 15 अगस्त तक चलेगी। हाल ही में गृहमंत्री अमित शाह ने अमरनाथ में बाबा बर्फानी के दर्शन कर सुरक्षा स्थितियों का जायजा लिया था। वहीं इससे पहले जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने अमरनाथ गुफा की ओर जाने वाले बालताल और पहलगाम मार्गों का हवाई सर्वेक्षण किया था। 

जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक एम.के.सिन्हा ने कहा कि जम्मू कश्मीर के लिए प्रवेश द्वारा से लेकर शिविरों, आश्रय केंद्रों, विश्राम स्थानों और सामुदायित किचन स्थानों पर सुरक्षा के पर्याप्त प्रबंध किए गए है। उन्होंने कहा कि यात्रा को रोकने के लिए आतंकवादियों को किसी योजना की खुफिया जानकारी नहीं है, लेकिन किसी भी आतंकी गतिविधि को रोकने के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। 

यात्रा पर इन बातों का रखें ध्यान :

  • ऊंचाई पर जाने से पहले अपने चिकित्सक से स्वास्थ्य संबंधी किसी भी परेशानी की जांच कराएं।
  • यात्रा के दौरान खाने पीने का ध्यान रखें और श्राइन बोर्ड द्वारा सुझाव गए डाइट चार्ट का पालन करें।
  • ऊंचाई पर होने वाली तकलीफों के लक्षण दिखते ही फौरन निचले स्तर पर उतर आइए।
  • यात्रा के दौरान सर दर्द की समस्या ना हो, इसके लिए खूब पानी पिएं।
  • यात्रा के दौरान हर अंतराल के बाद विश्राम जरुर करें।
  • यात्रा के दौरान जल्दबाजी ना करते हुए धीमे चलें और बीच बीच में रुकते रहें।
  • ऊंचाई पर चढ़ते वक्त यदि सांस लेने में परेशानी होने पर या कोई भी दवा लेने से पहले चिकित्सक से सलाह जरुर लें।
  • थकान और लो ब्लड शूगर लेवर से बचने के लिए कार्बोहाइड्रेट काफी मात्रा में लीजिए।
  •  नीचे आते वक्त तेजी से चलें, लेकिन बीच बीच में रुकते रहें।
कमेंट करें
hci58