comScore

अगले हफ्ते सरकार गठन की उम्मीद, भाजपा-शिवसेना में गतिरोध बरकारार, सोनिया से मिलेंगे पवार

अगले हफ्ते सरकार गठन की उम्मीद, भाजपा-शिवसेना में गतिरोध बरकारार, सोनिया से मिलेंगे पवार

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र में सरकार बनाने की दिशा में गतिरोध बरकरार है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष शरद पवार ने भी अपने पार्टी नेताओं के साथ बैठक कर राज्य के राजनीतिक हालात को लेकर चर्चा की। राकांपा विधायक दल के नेता अजित पवार ने बताया कि आगामी 4 नवंबर, सोमवार को पवार कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे। राज्य में सरकार बनाने में कांग्रेस-राकांपा की भूमिका पर सभी की निगाहे हैं। शिवसेना कांग्रेस-राकांपा के समर्थन से अपनी सरकार बना सकती है। हालांकि इसको लेकर कांग्रेस दो फाड़ हो गई है। पार्टी के कुछ नेता शिवसेना को समर्थन देने की वकालत कर रहे तों कुछ इसे पार्टी के लिए नुकसानदायक मान रहे। 

शनिवार को भाजपा में बैठकों का दौरा चला जबकि शिवसेना का आक्रामक रुख कायम रहा। इस बीच वरिष्ठ भाजपा नेता व राज्य के वित्तमंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने दावा किया है कि 6 नवंबर तक नई सरकार का गठन हो जाएगा। शनिवार को भाजपा-शिवसेना महायुति में शामिल छोटे दलों ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलकर सबसे बड़े दल भाजपा को सरकार बनाने का मौका दिए जाने की मांग की। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने शनिवार की दोपहर प्रदेश भाजपा कार्यालय में केंद्रीय संगठन मंत्री बी सतीश और प्रदेश भाजपा के संगठन मंत्री विजय पुराणिक के साथ एक घंटे तक बैठक की। हालांकि पाटील ने इस बारे में कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया। बैठक के बाद पाटील मुख्यमंत्री आवास वर्षा के लिए रवाना हो गए।  

शिवसेना सत्ता से एक कदम दूरः राउत

इस बीच शिवसेना की तरफ से मोर्चा संभाल रहे सांसद संजय राउत ने दावा किया कि भाजपा के सहयोग के बगैर हम सरकार बनाने से सिर्फ एक कदम दूर हैं। एक न्यूज चैनल से बातचीत में उन्होंने कहा कि चुनाव परिणाम के अनुसार भाजपा सबसे बड़ा दल है, इस लिए सरकार बनाने का पहला मौका उसे मिलना चाहिए पर यदि वे सरकार नहीं बना सके तो शिवसेना सरकार गठन करेगी। हमारे पास शिवसेना को समर्थन देने वालों के पत्र हैं। उन्होंने दावा कि शिवसेना 145 का जादुई आकड़ा जुटा लेगी। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी ने विधानसभा चुनाव गठबंधन में लड़ा था। इस लिए आखिरी पल तक गठबंधन धर्म निभाएगी।

शिवसेना को समर्थन के लिए कांग्रेस अध्यक्ष को पत्र

इस बीच कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य हुसैन दलवाई ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिख कहा है कि भाजपा को सत्ता से दूर करने के लिए पार्टी को शिवसेना का समर्थन करना चाहिए। विधानसभा चुनाव परिणाम आए 10 दिन बीत गए हैं पर अभी तक नई सरकार नहीं बन सकी। उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि अब शिवसेना की राजनीति बदल गई है अब पार्टी सर्वसमावेशक राजनीति में विश्वास करती है। इस लिए शिवसेना को समर्थन देने में कोई समस्या नहीं है। राष्टपति चुनाव में शिवसेना प्रतिभा पाटील और प्रणव मुखर्जी को समर्थन दी थी।   

कमेंट करें
eziKI