comScore

मीडिया से बोले अय्यर, 'तुम्हारे गेम में नहीं पड़ूंगा, उल्लू हूं लेकिन इतना बड़ा उल्लू नहीं'


हाईलाइट

  • मणिशंकर अय्यर ने कहा, मैं मीडिया का शिकार रहा हूं और इसने मुझे काफी नुकसान पहुंचाया है
  • मीडिया से बातचीत में बोले अय्यर मैं उल्लू हूं, लेकिन इतना बड़ा उल्लू नहीं हूं

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। कांग्रेस से निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा कि, मैं अपने लेख के जरिए बताना चाहता हूं कि मैं अपने हर शब्‍द पर कायम हूं। मैं किसी तर्क वितर्क में नहीं पड़ना चाहता हूं।' मीडिया ने जब पूछा कि आपके बयान को बढ़ा-चढ़ाकर के पेश किया जा रहा है तो अय्यर ने कहा, ''बयान तो आ चुका है मेरी तरफ से एक पूरा अर्टिकल है आप एक पंक्ति उसका चुनकर उस पर कहें कि अब इस पर बताइए तो मैं तुम्हारे खेल में पड़ने के लिए तैयार नहीं हूं। मैं उल्लू हूं, लेकिन इतना बड़ा उल्लू नहीं हूं ''

बता दें कि साल 2017 में मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए 'नीच किस्‍म का आदमी' वाक्‍य का प्रयोग किया था। गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान आए इस बयान को लेकर काफी सियासी हंगामा मचा था और इस बयान की तीखी आलोचना हुई थी। इस बयान के बाद कांग्रेस पार्टी ने अय्यर को पार्टी से निलंबित कर दिया था।  

अय्यर ने यह भी कहा, 23 मई को देश की जनता उन्हें बाहर कर देगी। मोदी भारत में अब तक के सबसे ज्यादा झूठ बोलने वाले प्रधानमंत्री हैं। मुझे याद है कि 7 दिसंबर 2017 को मैंने क्या कहा था। क्या मैं भविष्यवक्ता नहीं था? अय्यर ने मोदी पर देश विरोधी गतिविधियों को बढ़ावा देने और जवानों की शहादत के जरिए सत्ता में लौटने की कोशिश करने का आरोप लगाया। मणिशंकर अय्यर ने अपने आलेख में लिखा है कि मोदी ने देश विरोधी गतिविधियों को बढ़ावा देने का काम किया है। वे गंदे तरीके से चुनाव प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने वायुसेना को बदनाम करने के लिए मूर्खतापूर्ण तरीके का सहारा लिया है। 

एएनआई से अय्यर ने कहा, मैं 6 साल का था जब जवाहरलाल नेहरू प्रधानमंत्री बने और 23 साल के थे जब उनका निधन हो गया। मैंने उस युग में राजनीतिक प्रवचन सीखा, जवाहरलाल नेहरू के समय और वर्तमान सरकार द्वारा बनाए गए परिवेश के बीच कोई तुलना नहीं है। 

Loading...
कमेंट करें
LTs7o
Loading...
loading...