comScore

चल रहा था अवैध हथियारों का कारोबार , 15 हजार में कट्टा, 30 में बेच रहे थे पिस्टल

September 10th, 2019 13:21 IST
चल रहा था अवैध हथियारों का कारोबार , 15 हजार में कट्टा, 30 में बेच रहे थे पिस्टल

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा । जिले में कई सालों से चल रहे हथियारों के अवैध कारोबार का भांडाफोड़  एसपी मनोज राय ने किया। प्रेस वार्ता में एसपी ने 22 शस्त्र बरामद करने की जानकारी दी जिसमें 14 पिस्टल, 6 कट्टे और 2 रिवाल्वर शामिल हैं। इसके साथ ही लगभग 160 जिंदा कारतूस भी पुलिस ने बरामद किए हैं। अवैध हथियारों के सामने आने के बाद एसपी ने सीएसपी अशोक तिवारी व कोतवाली टीआई विनोद सिंह कुशवाह को जांच के आदेश दिए।  सीएसपी, कोतवाली टीआई व कुंडीपुरा टीआई राजेश सिहं चौहान के नेतृत्व में पुलिस दल ने जांच शुरू की तो पता चला की चांदामेटा निवासी इमरान आलम उर्फ चैन पिता इकबाल आलम उम्र 38 वर्ष अवैध हथियारों के कारोबार में लिप्त है। पुलिस ने इस आरोपी को हिरासत मे लेकर पूछताछ की और इसके घर की तालाशी ली तो आरोपी के घर से हथियारों का जखीरा बरामद हुआ है। आरोपी से पूछताछ में अन्य चार लोगों को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर उनके पास से भी पिस्टल व कट्टे बरामद किए हैं। पांचों आरोपियों के खिलाफ धारा 25 ए, ए आयुद्य अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। 
बुरहानपुर, खरगौन और यूपी से हथियारों की तस्करी 
जिले में हथियारों की खेप बुरहानपुर, खरगौन और यूपी से हो रही थी। आरोपी इमराम आलम यूपी के मैनपुरी और एमपी के खरगौन व बुरहानपुर से हथियार खरीद कर छिंदवाड़ा जिले सहित सिवनी और आसपास के जिलों में सप्लाई कर रहा था। अन्य आरोपी इमरान से हथियार खरीदते थे। 
हथियार बनाने और सुधारने का काम भी 
पकड़े गए इमरान के घर से पुलिस को पिस्टल बनाने और रिपेयर करने की सामग्री भी मिली है। उसके घर से 8 पिस्टल, 2 रिवाल्वर, 4 कट्टे 12 बोर, 66 पिस्टल के कारतूस, और 40 कारतूस 12 बोर के बरामद हुए हैं। अन्य पिस्टल व कारतूस दूसरे आरोपियों के पास मिले हैं।
दो कारतूस फ्री, 100 रुपए एक कारतूस की कीमत 
हथियारों के सौदागर बाहर से हथियार लाकर उन्हें जिले में या अन्य जिलों में 15 हजार से 30 हजार तक बेचते थे। 12 बोर कट्टे की कीमत 12 हजार से 18 हजार तक थी और पिस्टल 30 तक में बेची जा रही थी। हथियार के साथ 2 कारतूस फ्री दी जाती थी। अलग से कारतूस लेने पर एक कारतूस की कीमत 100 रुपए थी। 
ये आरोपी हुए गिरफ्तार  
पुलिस ने इमरान के साथ धरमसिंह उर्फ राज पिता सहसराम मालवी उम्र 34 निवासी पलटवाड़ा चौरई, शेख मुस्ताक पिता नूर मोहम्मद उम्र 54 वर्ष निवासी सिवनी जिला, अम्बिका दुबे पिता त्रिलोक नाथ दुबे उम्र 22 वर्ष निवासी लालबाग छिंदवाड़ा और जुबैर उर्फ बादशाह पिता सफी कुरैशी उम्र 28 निवासी भैय्या जी की दरगाह के सामने छिंदवाड़ा को गिरफ्तार किया है। आरोपियों को पुलिस ने पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया है।
इनका कहना है
॥हथियार कौन-कौन बेच रहा है यह पता लगया है, साथ ही जिले में हथियार के खरीदार कौन हैं, इस बारे में भी आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। 
-मनोज राय, पुलिस अधीक्षक छिंदवाड़ा
 

कमेंट करें
f2UJK