comScore

अमेरिका में इतनी हिम्मत नहीं की हम पर सैन्य हमला कर सके: ईरान

अमेरिका में इतनी हिम्मत नहीं की हम पर सैन्य हमला कर सके: ईरान

हाईलाइट

  • ईरान और अमेरिका के बीच लगातार खराब होते जा रहे संबंध
  • ईरान पर आर्थिक प्रतिबंध लगा चुका है अमेरिका
  • यूएस प्रेसिडेंट ट्रंप ने तोड़ दी है परमाणु संधि

डिजिटल डेस्क, तेहरान। परमाणु संधि टूटने के बाद पिछले कुछ दिनों से ईरान और अमेरिका के बीच तनाव है। अमेरिका ने अपना एक युद्धपोत भी ईरान के नजदीक समुद्री तट पर तैनात कर दिया है। इस बीच अमेरिका पर ईरान का बयान सामने आया है। ईरान की इस्लामिक रेवेल्यूशन गार्ड पुलिस (IRGC) का कहना है कि अमेरिका में इतनी हिम्मत नहीं है कि वो ईरान पर सैन्य हमला कर सके।

IRGC के लेफ्टिंनेंट कमांडर ब्रिगेडियर जनरल यदोल्लाह जवेनी ने कहा कि अमेरिका के साथ अब संबंधों में सुधार की कोई गुंजाइश नहीं बची है, लेकिन अमेरिका ईरान पर सैनिक हमला नहीं कर सकता, क्योंकि उनमें इतनी हिम्मत नहीं है। बता दें कि ईरान और अमेरिका के बीच परमाणु संधि खत्म होने के बाद से ईरान पर काफी सारे प्रतिबंध लगा दिए गए हैं।

इससे पहले अमेरिका ने ईरान की  इस्लामिक रेवेल्यूशन गार्ड पुलिस (IRGC) को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी संगठन घोषित कर दिया था। इसके जवाब में ईरान ने अमेरिका के सेंट्रल कमांडेट ग्रुप को आतंकी संगठन करार दे दिया था। इसके बाद ईरान को कड़ा संदेश देने के लिए अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बॉल्टन ने अमेरिका के ताकतवर युद्धपोत अब्राहम लिंकन और बम वर्षक विमानों को यूएस सेंट्रल कमांडेट क्षेत्र (ईरान के करीब) में तैनात कर दिया था।

दरअसल, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का मानना है कि परमाणु संधि तोड़ने के बाद ईरान पर दबाव बनाना जरूरी है। ट्रंप का मानना है कि अमेरिका के दबाव में आकर ईरान उनके सामने झुक जाएगा, लेकिन ईरान की सेना इसके लिए तैयार नहीं दिखाई दे रही है।

कमेंट करें
8idD6