comScore

सत्ता नहीं बल्कि विपक्ष के नेता पद चाहते हैं राज, चुनावी सभाओं को लेकर सता रहा है डर

सत्ता नहीं बल्कि विपक्ष के नेता पद चाहते हैं राज, चुनावी सभाओं को लेकर सता रहा है डर

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे विधानसभा में विपक्ष के नेता का पद चाहते हैं। राज ने कहा कि महाराष्ट्र में सबसे बड़ी जरूरत सक्षम, मजबूत और प्रबल विपक्ष की है। इसलिए मैं मतदाताओं से मनसे को प्रबल विपक्ष की आवाज बनाने का आह्वान कर रहा हूं। गुरुवार को सांताक्रुज में मनसे की ओर से आयोजित सभा में राज ने कहा कि विश्व के इतिहास के बारे में मुझे पता नहीं लेकिन देश के इतिहास में इस तरह की भूमिका किसी दल ने नहीं अपनाई होगी जो कि विपक्ष का नेता पद मांग रहा हो। राज ने कहा कि सत्ताधारी दल के विधायक कुछ नहीं कर सकते हैं लेकिन विपक्ष के विधायक मतदाताओं के गुस्से की आवाज बन सकते हैं। विपक्ष का नेता सरकार के नाक में दम कर सकता है। राज ने कहा कि मुझे मेरा दायरा पता है। इसलिए मैं सत्ता मांगने नहीं आया हूं बल्कि हमें विपक्ष की आवाज बनाने की मांग कर रहा हूं। 
 

सड़कों पर चुनावी सभाएं करना चाहती है मनसे

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) ने चुनाव आयोग से विधानसभा चुनाव के लिए सड़कों पर पार्टी की सभाएं आयोजित करने की अनुमति मांगी हैं। गुरुवार को मनसे ने राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी बलदेव सिंह को इस संबंध में पत्र लिखा है। जिसमें मुंबई, ठाणे, नाशिक और पुणे शहर के सड़कों पर सभाएं आयोजित करने की अनुमति देने की मांग की गई है। 

बारिश से डरी पार्टी, चुनाव आयोग को लिखा पत्र

पार्टी ने कहा है कि राज्य में मानसून की वापसी से बारिश होने के कारण मैदान में कीचड़ हो जा रहे हैं। मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार 20 से 21 अक्टूबर तक बारिश हो सकती है। ऐसी स्थिति में उम्मीदवारों के प्रचार के लिए सभाएं आयोजित करना संभव नहीं है। मनसे ने कहा कि विधानसभा चुनाव में प्रचार सभाओं के लिए पार्टी की ओर से मुंबई, ठाणे, पुणे और नाशिक शहर में निजी मैदान आरक्षित किए गए हैं। लेकिन बारिश होने से मनसे सहित सभी दलों की सभाएं रद्द हो रही हैं।

20-21 अक्टूबर को भी बरसात की भविष्यवाणी 

बारिश रुकने के बाद भी कई मैदानों में कीचड़ है। ऐसी स्थिति में पार्टी के कार्यकर्ताओं के बैठने की व्यवस्था करना संभव नहीं है। मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे की 9 अक्टूबर को पुणे के कसबा विधानसभा क्षेत्र के सरस्वती मंदिर संस्था के मैदान पर आयोजित की गई रैली आधे घंटे की बारिश के कारण रद्द करनी पड़ी थी। 
 

कमेंट करें
CrQRn