comScore
Dainik Bhaskar Hindi

नागालैंड में बीजेपी गठबंधन की सरकार, 15 साल के अंदर चौथी बार CM बने नेफ्यू रियो

BhaskarHindi.com | Last Modified - March 08th, 2018 17:24 IST

9.5k
0
0

News Highlights

  • नेशनल डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (NDPP) के लीडर नेफ्यू रियो गुरुवार को नागालैंड के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली।
  • पहली बार राजभवन के बाहर हुआ शपथ ग्रहण समारोह।
  • नागालैंड में NDPP ने बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाई है।
  • उन्हें राज्य के गवर्नर पीबी आचार्य पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई।
  • NDPP के सीनियर लीडर नेफ्यू रियो नागालैंड के 11वें सीएम के तौर पर शपथ ली।


डिजिटल डेस्क, कोहिमा। नेशनल डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (NDPP) के लीडर नेफ्यू रियो ने गुरुवार को नागालैंड के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली। उनके साथ 11 मंत्रियों ने भी शपथ ली। नागालैंड के इतिहास में पहली बार शपथ ग्रहण समारोह राजभवन के बाहर हुआ। कोहिमा लोकल ग्राउंड में हुए इस समारोह में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह समेत बीजेपी के कई बड़े नेता मौजूद रहे। बता दें कि नागालैंड में NDPP ने बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाई है।

पहली बार पब्लिक प्लेस में शपथ समारोह

नागालैंड के नए मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो और उनके मंत्रियों ने गुरुवार को कोहिमा लोकल ग्राउंड में शपथ ली। उन्हें राज्य के गवर्नर पीबी आचार्य पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। ये पहली बार है कि नागालैंड में कोई मुख्यमंत्री और उनके मंत्री पब्लिक प्लेस में शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए जनता को भी इनवाइट किया गया था। अभी तक राज्य में शपथ ग्रहण समारोह इतने बड़े स्तर पर नहीं हुआ और राजभवन के ही दरबार हॉल में सीएम और मंत्रियों को शपथ दिलाई जाती थी। जिसमें सिर्फ VIP, VVIP और सीनियर ब्यूरोक्रेट्स ही शामिल होते थे।

15 साल के अंदर चौथी बार सीएम बने नेफ्यू

NDPP के सीनियर लीडर नेफ्यू रियो नागालैंड के सीएम के तौर पर शपथ ली। इससे पहले रियो 3 बार लगातार नागालैंड के सीएम रह चुके हैं और 15 साल के अंदर ये चौथी बार था जब नेफ्यू रियो ने नागालैंड के सीएम के तौर पर शपथ ली। रियो इससे पहले नगा पीपुल्स फ्रंट (NPF) में थे, लेकिन बाद में उन्होंने NDPP ज्वॉइन कर ली। रियो पहली बार 6 मार्च 2003 से 3 जनवरी 2008 तक नागालैंड के सीएम रहे और दूसरी बार 12 मार्च 2008 को उन्होंने दूसरी बार नागालैंड के सीएम के तौर पर शपथ ली थी। इसके बाद 2013 के चुनावों में जीत के बाद रियो तीसरी बार मुख्यमंत्री बनाए गए। हालांकि तीसरी बार का उनका कार्यकाल सिर्फ 1 साल तक ही रहा और 24 मई 2014 को उन्होंने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया। 

निर्विरोध चुनाव जीते हैं नेफ्यू रियो

NDPP के लीडर नेफ्यू रियो 2018 के विधानसभा चुनावों में निर्विरोध चुनाव जीते हैं। नेफ्यू रियो ने कोहिमा जिले की नॉर्दर्न अंगामी-2 सीट से नॉमिनेशन फाइल किया था। उनके सामने NPF के कैंडिडेट थे, लेकिन उन्होंने अपना नॉमिनेशन वापस ले लिया था। 

कौन हैं नेफ्यू रियो? 

नागालैंड के नए सीएम नेफ्यू रियो NDPP के सीनियर लीडर हैं और नागालैंड में उनका प्रभाव भी काफी माना जाता है। रियो ने पहली बार 1989 में नागालैंड की नॉर्दर्न अंगामी-2 सीट से कांग्रेस (I) के टिकट पर चुनाव लड़ा और जीता। इसके बाद 2002 में उन्होंने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया और NPF में शामिल हो गए और 2003 में नागालैंड के मुख्यमंत्री बनाए गए। उसके बाद जनवरी 2018 में रियो ने NPF का साथ छोड़ा और NDPP में ज्वॉइन हो गए। 

नागालैंड में बीजेपी गठबंधन की सरकार

नागालैंड में बीजेपी गठबंधन की सरकार बन गई है। क्योंकि चुनावों में NDPP और बीजेपी ने मिलकर चुनाव लड़ा था। इसमें बीजेपी ने 20 और NDPP ने 40 सीटों पर अपने कैंडिडेट उतारे थे। चुनावों में NDPP ने जहां 16 सीटें जीती हैं, वहीं बीजेपी ने 12 सीटों पर जीत दर्ज की है। इसके साथ ही NDPP-BJP गठबंधन को NPP के दो विधायक, JDU का 1 और इंडिपेंडेंट कैंडिडेट ने भी समर्थन दिया है। इस हिसाब से इस गठबंधन को 32 विधायकों का समर्थन है। 

पहले NPF के साथ थी बीजेपी

बीजेपी नागालैंड में अभी तक NPF के साथ मिलकर चुनाव लड़ती थी लेकिन 2018 में बीजेपी ने NPF से 15 साल पुराने गठबंधन को तोड़कर NDPP से हाथ मिला लिया था। 2013 के विधानसभा चुनावों में NPF को 60 में से 38 और बीजेपी को 1 सीट मिली थी। जबकि 2018 के चुनावों में बीजेपी को जहां 11 सीटों का फायदा हुआ है, वहीं NPF को 11 ही सीटों का नुकसान हुआ है। 

[1] Questions

1) नेफ्यू रियो पहली बार कब बने थे नागालैंड के मुख्यमंत्री?

1
2
3
4

कुल प्रश्नों के जवाब: -0
सही जवाब:- 0
गलत जवाब:- 0

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download