comScore

तेजी से बढ़ रही शिर्डी आने वाले हवाई यात्रियों की संख्या, शिर्डी एयरपोर्ट के विस्तार का फैसला

तेजी से बढ़ रही शिर्डी आने वाले हवाई यात्रियों की संख्या, शिर्डी एयरपोर्ट के विस्तार का फैसला

डिजिटल डेस्क, मुंबई। राज्य के छोटे शहरों के हवाई अड्डे जहां यात्रियों की कमी की समस्या से जुझ रहे हैं वहीं दूसरी महज 20 महीने पहले शुरु शिर्डी हवाई अड्डे को विस्तार की जरूरत पड़ गई है। हवाई मार्ग से शिर्डी पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की की तेजी से बढ़ती संख्या के मद्देनजर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र एयरपोर्ट डेवलपमेंट कंपनी (एमएडीसी) को निर्देश दिया है कि शिर्डी हवाई अड्डे का विस्तार कर वहां एक नया टर्मिनल भवन बनाया जाए। एमएडीसी के निदेशक मंडल की बैठक में मुख्यमंत्री फडणवीस कहा कि अन्य सभी हवाई अड्डों और रनवे का काम भी तेज गति से शुरू किया जाना चाहिए। बैठक में ‘उड़ान योजना' और 'क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना' के तहत शुरू की गई उड़ानों की समीक्षा की गई। साईबाबा संस्थान ट्रस्ट के ट्रस्टीराजेंद्र सिंह का कहना है कि शिर्डी के लिए हवाई सेवा शुरु होने से श्रद्धालुओं को काफी सुविधा हुई है। विमान से बाबा के दरबार में आने वालों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इसलिए शिर्डी हवाई अड्डे के विस्तार की जरूरत है। मुख्यमंत्री जी ने जो निर्णय लिया है उसका दिल से स्वागत करते हैं।  

20 महीने बाद ही विस्तार को मिली हरी झंडी  

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने 1 अक्टूबर 2017 को शिर्डी हवाई अड्डे का उद्घाटन किया था। शिर्डी हवाई अड्डा महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में बनाया गया हैं। दुनियाभर से हर साल लाखों श्रद्धालु साई बाबा के दर्शन के लिए शिर्डी पहुंचते हैं। गुरुवार, शनिवार, रविवार और अवकाश दिन श्रद्धालुओं की संख्या काफी अधिक होती है। अब तक शिर्डी पहुंचने के लिए श्रद्धालु सड़क और रेल मार्ग का उपयोग करते थे। हवाई सेवा शुरू होने के बाद बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं इसका इस्तेमाल कर रहे हैं। 

हर दिन 12 विमान और 17 हजार हवाई यात्री

साईबाबा संस्थान ट्रस्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी व सचिव दीपक मदूकर मुगलीकर ने बताया कि फिलहाल शिर्डी हवाई अड़्डे पर प्रतिदिन 12 विमान उतरते हैं जिसमें दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, भोपाल, हैदराबाद, बैंगलूरू से आने वाले विमान शामिल हैं। इससे हर रोज 17,000 लोग हवाई मार्ग से शिर्डी पहुंच रहे हैं। उन्होंने बताया कि देश के दूसरे अन्य शहरों इंदौर व कोयंबटूर से भी शिर्डी के हवाई सेवा शुरु करने की मांग हो रही है। 

भिवापुर तहसील की सड़कों का बदलेगा रुप 

उधर नागपुर के भिवापुर तहसील मे अन्य जिला मार्ग तथा ग्रामीण मार्ग की सड़कों का प्रमुख जिला मार्ग के रूप में उन्नयन होगा। गुरुवार को प्रदेश सरकार के सार्वजनिक निर्माण कार्य विभाग की ओर से इस संबंध में शासनादेश जारी किया गया। इसके अनुसार शिवापुर-सरांडी-मांडवा-वाकेश्वर-जवली-मल्हारपुर-धापर्ला-टाका से भिसी तक 27 किमी सड़क के उन्नयन के बाद इसको प्रमुख जिला मार्ग 141 नाम दिया जाएगा। साथ  भिवापुर-मोखाडा-भागेबोरी-गोंडबोरी-सोमनाला-मांडवा-पाहमी तक 26.700 किमी सड़क के उन्नयन किया जाएगा। यह सड़क प्रमुख जिला मार्ग 142 के नाम से जानी जाएगी। नागपुर में अन्य जिला मार्ग तथा ग्रामीण मार्ग की सड़कों के उन्नयन से प्रमुख जिला मार्ग की लंबाई बढ़कर 3139.580 किमी हो जाएगी। जबकि अन्य जिला मार्ग की लंबाई घटकर 1866.10 किमी और ग्रामीण मार्ग की लंबाई 8035.740 किमी रह जाएगी। 

कमेंट करें
HbJ9Y