comScore
Dainik Bhaskar Hindi

इस सजा से होगा तेज दिमाग, यकीन नहीं तो यहां देखें VIDEO

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 04th, 2018 19:23 IST

4.7k
1
1

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। 'कान पकड़ कर 'उठक-बैठक' की सजा भारत में गुरूकुल के समय से चली आ रही। आपको भी ये सुनकर अपना किस्सा याद आ गया होगा कि जब आप होमवर्क नहीं करते थे, स्कूल में देरी से पहुंचते थे या कोई शैतानी करते थे तो टीचर्स कान पकड़वाकर उठक-बैठक लगवाती थी, वो भी पूरी क्लास के सामने। ये दृश्य उस समय काफी शर्मिंदगी भरा होता था जब पूरी क्लास के सामने उठक-बैठक लगाई जाती थी, लेकिन हाल ही में सामने आयी एक रिसर्च में पता चला है कि ये सजा एक 'सुपर ब्रेन योगा' है जो आपके दिमाग को दुरुस्त रखती है।

इस कसरत के फायदे 'गजब'

कान पकड़ कर उठक-बैठक करना एक प्राचीन योगा है जो भारतीय ऋषि मुनियों ने मस्तिष्क की एकाग्रता को बढ़ाने और याद रखने की क्षमता को बढ़ाने के मदद करती है। हाल फिलहाल सामने आयी एक रिसर्च में एक फॉरन सांइटिस्ट का कहना है कि ऐसे दोनों हाथों को आपस में क्रॉस करके बाएं हाथ से दाहिने कान और दहिने हाथ से बाये कान को पकड़कर उठक-बैठक करने से दिमाग में स्फूर्ति आती है। इस सजा को अब विदेशी वैज्ञानिकों ने Super Brain Yoga का नाम दिया है। वैसे इस रिसर्च से ये सिद्ध भी हो जाता है कि भारतीय आयुर्वेद ज्ञान और योग के पूरी दुनिया में दीवाने हैं।

इस रिसर्च में उठक-बैठक करने के कुछ फायदे भी गिनाए जा रहे हैं...

  • कान के निचले हिस्से में एक्यूप्रेशर पॉइंट्स होते है। जिसे दबाने से दिमाग की तंत्रिकाओं में सक्रियता और कार्य क्षमता बढ़ती है।
  • कान पकड़ कर उठने बैठने की इस पोस्चर में मस्तिष्क के मेमोरी सेल्स में तेजी से ब्लड सर्क्यूलेट होता है। दिमाग के बाएं और दाएं हिस्सों की कार्यप्रणाली में सामंजस्य स्थापित होता है, जिससे मन शांत, स्थिर और केन्द्रित होता है। जिसके कारण याददाश्त तो तेज होती है साथ ही माइंड भी शार्प होता है।

इसके साथ ही दिमागी बीमारियां, सीखने और समझने में देरी जैसी प्रॉब्लम नहीं होती। इसी फायदे की वजह से कक्षा के कमजोर और शरारती बच्चों को यह योग करवाया जाता था, लेकिन इसे कोई भी करे उसे लाभ ही मिलेगा।

ये भी पढ़ें- 'One Man Band' ये अकेले ही बजा लेते हैं 45 इंस्ट्रूमेंट्स, देखें VIDEO

क्या है करने का सही तरीका

अब जब इस सजा के इतने सारे फायदे निकल कर आ ही गए हैं तो अब इसे सही तरीके से करने का सलीका भी जान लीजिए। 

  • – सीधे खड़े हों, अब सीने के सामने से दोनों हाथों को क्रॉस करते हुए लेफ्ट हाथ से राईट कान का निचला हिस्सा और राईट हाथ से लेफ्ट कान का निचला हिस्सा पकड़ें। कान को बहुत तेज न दबाएं, मीडियम प्रेशर लगाते हुए पकड़ें।
  • – सामने देखते हुए धीरे-धीरे बैठना शुरू करें। फिर धीरे-धीरे खड़े हों। बैठक लगाते समय सांस छोड़ें और उठक लगाते समय सांस लें। इस योग को करने से दिमागी फायदे तो मिलते हैं साथ ही आपके पैरों की भी एक्सरसाईज हो जाती है। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें