comScore

भारत ने अजमेर आने वाले पाकिस्तानी श्रद्धालुओं को वीजा देने से किया इनकार

March 05th, 2019 14:36 IST

हाईलाइट

  • भारत ने अजमेर शरीफ जाने वाले पाकिस्तानी श्रद्धालुओं को वीजा देने से किया इंकार।
  • पाकिस्तान के धार्मिक मामलों के मंत्री पीर नूर-उल-हक कादरी ने किया दावा।
  • भारत ने करीब 500 पाकिस्तानी श्रद्धालुओं का वीजा मंजूर करने से इंकार किया।

डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। पुलवामा हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच अभी भी तनाव जारी है। भारत ने अजमेर की यात्रा करने की इच्छा रखने वाले पाकिस्तानी श्रद्धालुओं को वीजा देने से इनकार कर दिया है। पाकिस्तान के धार्मिक मामलों के मंत्री पीर नूर-उल-हक कादरी ने दावा किया है कि, भारत ने करीब 500 पाकिस्तानी श्रद्धालुओं को वीजा देने से इंकार किया है। मंत्री के अनुसार, पाकिस्तानी श्रद्धालुओं को गुरुवार को पड़ोसी देश जाना था, लेकिन भारत ने उन्हें वीजा नहीं दिया।


श्रद्धालुओं के पासपोर्ट भी वापस नहीं किए- पाक मंत्री

पाकिस्तान के मंत्री कादरी ने सोमवार को कहा, भारत ने अजमेर शरीफ जाने वाले करीब 500 पाकिस्तानी श्रद्धालुओं का वीजा मंजूर करने से इंकार कर दिया है। कादरी ने बताया, भारतीय दूतावास से वीजा रद्द किए जाने की सूचना मिलने के बाद मंत्रालय ने सभी श्रद्धालुओं को SMS के जरिये यह जानकारी दी। उन्होंने यह भी कहा कि, भारतीय दूतावास ने अब तक उन श्रद्धालुओं के पासपोर्ट वापस नहीं किए हैं। यह कदम भारत के उग्र रूप को जाहिर करता है। कादरी ने यह भी बताया कि, पाकिस्तान ने एक साल में 5600 सिख तीर्थयात्रियों को वीजा दिया है, जबकि 312 हिंदू श्रद्धालुओं को भी वीजा दिए हैं।


दरगाह के प्रमुख ने कहा-  यात्रियों के जत्थे को रोके भारत सरकार

आपको बता दें कि, अजमेर शरीफ दरगाह के प्रमुख ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा की घटना का विरोध किया है। पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए दरगाह के दीवान सैय्यद जैनुल आबेदीन अली खान ने कहा, भारत सरकार सालाना उर्स आने वाले यात्रियों के जत्थे को तत्काल रोक दे, क्योंकि पाकिस्तान उर्स यात्रा के बहाने अपने एजेंट को भेजकर भारत के खिलाफ जानकारियां इकट्ठा करता है।


राजस्थान के अजमेर में हैं ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह

उन्होंने यह भी कहा, भारत सरकार अब आगामी अजमेर शरीफ उर्स में किसी भी पाकिस्तानी जत्थे को आने की अनुमति ना दे। दरगाह के दीवान ने आरोप लगाया कि, पाकिस्तान भारत भेजने वाले जत्थे में अपने एजेंट भी भेजता है। जिससे कई गुप्त जानकारियां भारत से हासिल करता है, जो कि देश की सुरक्षा व्यवस्था के लिए खतरनाक है। गौरतलब है कि राजस्थान के अजमेर में ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती की दरगाह है जहां पाकिस्तानी श्रद्धालु पहुंचते हैं।

कमेंट करें
vLPoe