comScore

साध्वी प्रज्ञा के विवाद में कूदे पीएम मोदी, कहा- कांग्रेस को पड़ेगा महंगा

साध्वी प्रज्ञा के विवाद में कूदे पीएम मोदी, कहा- कांग्रेस को पड़ेगा महंगा

हाईलाइट

  • भोपाल से साध्वी प्रज्ञा की उम्मीदवारी पर विपक्ष के सवाल का पीएम ने दिया जवाब।
  • सिख दंगों से लेकर जस्टिस लोया की मौत तक की घटनाओं का जिक्र कर कांग्रेस पर साधा निशाना। 
  • मोदी ने कहा, सबको जवाब देने के लिए यह एक प्रतीक, कांग्रेस को पड़ेगा महंगा।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। आतंकवाद के मामले में आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को भोपाल लोकसभा सीट से टिकट दिए जाने को लेकर विपक्ष लगातार बीजेपी पर सवाल उठा रहा है। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने साध्वी को उम्मीदवार बनाने के फैसले का बचाव करते हुए विपक्ष को करारा जवाब दिया है। पीएम मोदी ने साध्वी प्रज्ञा को टिकट दिए जाने को सही ठहराया है। पीएम ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, राहुल गांधी और सोनिया गांधी भी जमानत पर बाहर हैं। उन्होंने ये भी दावा किया है साध्वी की उम्मीदवारी कांग्रेस को महंगी पड़ने वाली है। 

पीएम मोदी ने शुक्रवार को एक इंटरव्यू में ये बातें कहीं। पीएम ने राहुल गांधी और सोनिया गांधी को निशाने पर लेते हुए कहा, अमेठी और रायबरेली से कांग्रेस उम्मीदवार भी जमानत पर रिहा हैं। इस पर चर्चा नहीं होती, लेकिन भोपाल की उम्मीदवार जमानत पर हो तो ये बहुत बड़ा तूफान खड़ा कर देते हैं। पीएम ने कहा, उन सबको जवाब देने के लिए साध्वी प्रज्ञा एक प्रतीक है और यह कांग्रेस को महंगा पड़ने वाला है। प्रधानमंत्री ने कहा, साध्वी प्रज्ञा को भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार बनाया जाना उन लोगों के लिए 'सांकेतिक' उत्तर है जो हिंदू संस्कृति को 'आतंकवादी' कहते हैं।

पीएम ने कहा, विवाद कांग्रेस की मोडस ऑपरेंडी (काम करने का तरीका) का हिस्सा है। समझौता एक्सप्रेस का फैसला आ गया है, क्या निकला? मोदी ने कहा, आपने (कांग्रेस) बिना सबूत के... दुनिया में 5,000 साल तक जिस महान संस्कृति और परंपरा ने 'वसुधैव कुटुम्बकम्' का संदेश दिया, 'सर्वे भवन्तु सुखिन:' का संदेश दिया, जिस संस्कृति ने 'एकम् सद् विप्रा: बहुधा वदन्ति' का संदेश दिया, ऐसी संस्कृति को आतंकवादी कह दिया। 

पीएम ने कहा, जिन लोगों को कोर्ट ने दोषी करार दिया है लोग उनके पास जाते हैं और गले लगाते हैं, उनसे जेल में मिलते हैं, जब उनको अस्पताल में शिफ्ट किया जाता है तब उनसे मिलने जाते हैं। क्या अमेठी और रायबरेली के जो उम्मीदवार ज़मानत पर बाहर हैं उनसे सवाल नहीं पूछा जाना चाहिए, लेकिन भोपाल का बीजेपी उम्मीदवार ज़मानत पर बाहर है और चुनाव लड़ रहा है तो चारों ओर हो-हल्ला मचा हुआ है।

पीएम मोदी ने 1984 के सिख दंगों, समझौता ब्लास्ट से लेकर जस्टिस लोया की मौत तक की घटनाओं का जिक्र करते हुए कांग्रेस पर हमला बोला। पीएम ने पूर्व पीएम राजीव गांधी को भी निशाने पर लिया। उन्होंने कहा, जब 1984 में इंदिरा गांधी की हत्या हुई तो उनके सुपुत्र ने कहा था, एक बड़ा पेड़ गिरता है तो जमीन हिलती है। उसके बाद देश में हजारों सरदारों का कत्लेआम किया गया। क्या यह एक निश्चित लोगों का आतंक नहीं था? इसके बावजूद भी उन्हें प्रधानमंत्री बना दिया गया। इसके संबंध में देश के न्यूट्रल मीडिया ने सवाल नहीं पूछा, जो आज पूछ रहे हैं। सरदारों को जला दिया गया और ऐसा करने वालों को बाद में एमपी और केंद्र में मंत्री बनाया गया। एक को तो मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया गया। जिन पर आरोप लगे हुए क्या उनसे पूछा गया। 

पीएम मोदी ने कहा, जब साध्वी प्रज्ञा को जेल में टॉर्चर किया जा रहा था तब किसी ने आवाज़ नहीं उठाई। उन्होंने ये भी आरोप लगाया है कि कांग्रेस किसी फिल्मी स्क्रिप्ट की तरह कहानियां गढ़ती है। वे एक चीज़ को उठाते हैं, उसमें कुछ मिलाते हैं, स्टोरी में एक विलेन को डालते हैं और झूठा प्रचार करते हैं। जस्टिस लोया की सामान्य मौत हुई लेकिन उन्होंने इसकी भी कहानी गढ़ ली।

कमेंट करें
qcUPN