comScore

कार्यकर्ताओं ने काशी आने से किया था मना इसलिए केदारनाथ गया: PM


हाईलाइट

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काशी की जनता का आभार व्यक्त करेंगे
  • बीजेपी कार्यकर्ताओं की एक सभा को भी संबोधित करेंगे 

डिजिटल डेस्क, वाराणसी। लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (27 मई) पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र उत्तर प्रदेश के वाराणसी पहुंचे। एयरपोर्ट पर उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम का स्वागत किया। इस दौरान बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद थे। दूसरी बार पीएम पद की शपथ लेने से पहले पीएम मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में पूरे विधि-विधान से पूजा-अर्चना की और भगवान शिव का आशीर्वाद लिया। 

विश्वनाथ मंदिर में पूजा-पाठ करने के बाद पीएम नरेन्द्र मोदी वाराणसी के दीनदयाल हस्तकला संकुल पहुंचे। यहां बीजेपी कार्यकर्ताओं ने मोदी-मोदी के नारे लगाकर पीएम का स्वागत किया। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, मैं भी भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता होने के नाते पार्टी और कार्यकर्ता जो आदेश करते हैं उसका पालन करने का मैं भरसक प्रयास करता हूं।  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, 19 मई यानी आखिरी चरण के मतदान के लिए मैं काशी आना चाहता था लेकिन यहां के कार्यकर्ताओं ने मुझे कहा था, आप निश्चिंत रहिए और जीत के बाद ही आइए, इसलिए मैं 19 को मतदान के दिन यहां नहीं आया। मुझे लगा कार्यकर्ताओं ने आदेश दिया है शायद एंट्री नहीं मिले इसलिए इस बाबा की जगह मैं केदारनाथ बाबा के पास चला गया।

पीएम ने कहा, पारदर्शिता और परिश्रम दो ऐसी चीजें हैं, हर परसेप्शन को परास्त करने का साहस रखते हैं। आज हिंदुस्तान ने ये कर के दिखाया है। पारदर्शिता और परिश्रम का कोई विकल्प नहीं है। सरकार का काम है कार्य करना और इसलिए एक तरफ सरकार का कार्य हो और उसमें जब कार्यकर्ता जुड़ जाता है तो 'कार्य+कार्यकर्ता' वो एक ऐसी ताकत है जो करिश्मा करती है।

संकुल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे। सभा को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा, चुनाव से पहले लोग महागठबंधन बनाकर बीजेपी को रोकने में लगे थे, लेकिन बीजेपी ने महाविजय हासिल की। हम पहले ही कह रहे थे मोदी है तो मुमकिन है।

कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा, आप सभी बहुत भाग्यशाली हैं कि मोदी जी जैसे जनप्रतिनिधि काशी के कार्यकर्ताओं को मिला है। मोदी जी मणिनगर विधानसभा क्षेत्र से पहली बार विधायक बने थे और फिर मुख्यमंत्री बने। जब उन्होंने ये पद छोड़ा तब मणिनगर देश का सबसे विकसित विधानसभा क्षेत्र था।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम
पीएम गंगा आरती में भी शामिल होंगे। पूजा-पाठ के बाद नरेंद्र मोदी गंगा घाट से लोगों को संबोधित करेंगे। इसके अलावा कॉरिडोर में चल रहे कार्यों का जायजा भी ले सकते हैं। पीएम मोदी की यात्रा के मद्देनजर काशी में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। जहां से पीएम मोदी का काफिला गुजर रहा है वहां अर्धसैनिक और विशेष सुरक्षा दल के कर्मी बड़ी संख्या में तैनात हैं। 

रविवार को मां से मिलने गुजरात पहुंचे थे पीएम
बता दें कि इससे पहले 26 मई यानी रविवार को पीएम अपने गृहराज्य गुजरात पहुंचे थे। यहां उन्होंने अपनी मां हीराबेन से मुलाकात कर उनका आशीर्वाद लिया था। मां से मिलने से पहले पीएम ने पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं को भी संबोधित किया था। गौरतलब है कि आखिरी चरण के मतदान से पहले एक वीडियो संदेश में पीएम मोदी ने अपने आप को ‘काशीवासी’ बताया था और इस नगरी को अपना मार्गदर्शक कहा था। पीएम ने कहा था मेरे रोम-रोम में काशी बसा है। 

कमेंट करें
p3NTr