comScore

PM की सांसदों को सलाह- मीडिया के सामने कुछ भी कहने से बचें, अब देश माफ नहीं करेगा


हाईलाइट

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवनिर्वाचित सांसदों को दी सलाह
  • मीडिया में मंत्री पद के लिए नाम आए तो सच मत समझ लेना
  • मंत्रीपद को लेकर पीएम ने कहा- जिसकी जिम्मेदारी है वही सरकार बनाने वाले हैं

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। एनडीए की बैठक में संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवनिर्वाचित सांसदों को सलाह दी है। पीएम मोदी ने नई सरकार की योजनाओं के बारे में बात करते हुए नए सांसदों से कहा, अगर मीडिया में मंत्री पद के लिए उनका नाम आए तो उसे सच मत समझ लेना। इसके साथ ही पीएम ने मीडिया के सामने कुछ भी कहने से बचने की सलाह देते हुए कहा, अब देश माफ नहीं करेगा।

छपने और दिखने की लत से बचें
शनिवार को पीएम मोदी ने संसद के सेंट्रल हॉल में नव-निर्वाचित सांसदों को संबोधित किया। इस दौरान पीएम ने सांसदों को मीडिया के सामने कुछ भी बोलने से बच के रहने की सलाह देते हुए कहा, कुछ भी ऑफ रिकॉर्ड नहीं होता है। पहले लोग यह सवाल पूछते हैं कि पहली बार आप चुनकर आए तो कैसा लग रहा है। अपने क्षेत्र के लिए क्‍या संदेश देना चाहेंगे। आपको लगेगा कि पूरा देश आपको देख रहा है। फिर धीरे-धीरे यह एक रोग आपको लग जाएगा छपास और दिखास। पीएम ने कहा हमें छपास और दिखास, इन दो रोगों को पालने से बचना चाहिए। मतलब छपने की लत और दिखने की लत से बचें। कुछ भी ऑफ रिकॉर्ड नहीं होता। मीडिया से कैसे बात करें, क्‍या करें क्‍या न करें इस पर ध्यान दें। क्योंकि अब देश माफ नहीं करेगा।

झूठे फोन कॉल से सचेत रहें सांसद
पीएम ने सांसदों को झूठे फोन कॉल और झूठी बातों से भी सचेत रहने के लिए कहा। उन्होंने कहा, आजकल कई लोग पीएमओ के नाम पर झूठे फोन करते हैं, क्योंकि सांसद नया होता है इसलिए वह आवाज नहीं पहचान पाता। मंत्रीपद को लेकर प्रधानमंत्री ने कहा, अभी तक मैंने विजयी सांसदों की पूरी लिस्ट नहीं देखी है, लेकिन इस देश में बहुत ऐसे नरेंद्र मोदी पैदा हो गए हैं जिन्होंने मंत्रिमंडल बना दिया है। पीएम ने कहा, मीडिया में जो नाम चल रहे हैं वह भ्रमित करने के लिए हैं, आप इस भ्रम में मत आइए। कई लोग आपको ये भी कहेंगे कि उन्होंने लिस्ट में आपका नाम देखा है, लेकिन ऐसा कुछ नहीं होता है। सरकार और कोई बनाने वाला नहीं है, जिसकी जिम्मेदारी है वही बनाएंगे।

अपने क्षेत्र की जनता के लिए काम करें सांसद
नरेंद्र मोदी ने कहा, जो कुछ होगा वह नियमों के मुताबिक ही होगा। न कोई अपना है न कोई पराया। जो भी जीतकर आया है वह सारे मेरे हैं। दायित्व बहुत कम लोगों को दे सकते हैं, इसलिए किसी खास के चक्कर में मत पड़िए। अगर अखबार या टीवी कहीं पर भी ऐसी खबर आए तो उसे फोन करके इसे बंद करने के लिए कहें। नरेंद्र मोदी ने कहा, सासंदों को क्षेत्र की जनता के लिए काम करना चाहिए। उन्होंने कहा, मां के गर्भ में जब बच्चा होता है तो गर्भनाल से उसका जीवन चलता है। सार्वजनिक जीवन में भी जनप्रतिनिधि और जनता का संबंध उसी गर्भनाल की तरह होना चाहिए।

वीआईपी कल्चर से बच कर रहने की सलाह
पीएम मोदी ने सांसदों को वीआईपी कल्चर से बच कर रहने की भी सलाह दी है। पीएम ने कहा, वीआईपी कल्चर से देश को नफरत है। हो सकता है आपके अंदर यह भाव आ जाए कि मेरी चेकिंग क्यों हो, मैं लाइन में क्यों लगूं, लेकिन आप भी नागरिक। पीएम ने कहा, हम न हमारी हैसियत से जीतकर आते हैं, न कोई वर्ग हमें जिताता है, न मोदी हमें जिताता है। सिर्फ देश की जनता हमें जिताती है। हम जो कुछ भी हैं जनता जनार्दन के कारण हैं।

कमेंट करें
UyIbO