comScore

सोनभद्र: पीड़ितों से नहीं मिल सकीं प्रियंका, हिरासत में गेस्ट हाउस ले गई पुलिस


हाईलाइट

  • सोनभद्र के नरसंहार में मारे गए लोगों के परिवारों से आज मिलेंगी प्रियंका गांधी
  • जमीन विवाद में मारे गए थे 10 लोग 18 लोग हुए थे जख्मी
  • प्रियंका गांधी ने यूपी पुलिस प्रशासन पर उठाए थे सवाल

डिजिटल डेस्क, सोनभद्र। नरसंहार के पीड़ितों से मिलने जा रहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के काफिले को आज (शुक्रवार) को बीच रास्ते में रोक दिया गया। प्रियंका के इस काफिले को नारायणपुर पुलिस स्टेशन के पास रोका गया। प्रियंका यहां जमीन विवाद को लेकर हुए नरसंहार में मारे गए 10 लोगों के परिवारों से मिलेंगी। इस हिंसा में 18 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।  इस मामले में 61 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। इनमें 11 नामजद हैं। इस सिलसिले में 26 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

सोनभद्र में पीड़ित परिवारों से मिलने से रोके जाने से नाराज प्रियंका गांधी बीच रास्ते में बैठीं हैं। इस दौरान प्रियंका गांधी ने कहा, 'हम बस पीड़ित परिवार से मिलना चाहते हैं। मैं तो यहां तक कहा कि मेरे साथ सिर्फ 4 लोग होंगे। फिर भी प्रशासन हमें वहां जाने नहीं दे रहा है। उन्हें हमें बताना चाहिए कि हमें क्यों रोका जा रहा है। हम यहां शांति से बैठे रहेंगे.'

जब प्रियंका धरना से उठाने के लिए तैयार नहीं हुईं तो पुलिस ने प्रियंका गांधी को हिरासत में ले लिया। हिरासत में लेने के बाद प्रियंका गांधी को चुनार गेस्ट हाउस ले जाया गया। इस दौरान कांग्रेस महासचिव ने कहा, 'मुझे नहीं पता कि कहां ले जाया जा रहा है, लेकिन वे जहां ले जाएंगे हम जाने को तैयार हैं, लेकिन झुकेंगे नहीं.' प्रियंका ने कहा, पुलिस रोके जाने का ऑर्डर नहीं है। मैं सिर्फ ये जानना चाहती हूं कि मुझे किस आदेश के तहत रोक गया है। 

राहुल गांधी बोले, गिरफ्तारी विचलित कर देने वाली

बता दें कि सोनभद्र में घोरावल थाना क्षेत्र के उधा गांव में ग्राम प्रधान यज्ञदत्त ने एक आईएएस अधिकारी से खरीदी गई 90 बीघा जमीन पर कब्जे के लिए बड़ी संख्या में अपने साथियों के साथ पहुंचकर जमीन जोतने की कोशिश की। विरोध करने पर उसकी तरफ के लोगों ने स्थानीय ग्रामीणों पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दीं। इस वारदात में नौ लोगों की मौके पर ही मौत हो गयी। एक घायल ने बाद में दम तोड़ दिया। 18 लोग गंभीर रुप से घायल हो गए। 

वाराणसी मंडल के सोनभद्र जिले में 10 लोगों की हत्या के मामले ने तूल पकड़ लिया है। विपक्षी दलों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। मामले को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि अपराधियों के हौंसले बुलंद हैं, लेकिन पूरा सरकारी अमला सो रहा है। उन्होंने यह सवाल भी किया कि क्या उत्तर प्रदेश ऐसे अपराधमुक्त बनेगा? प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, ''भाजपा-राज में अपराधियों के हौंसले इतने बढ़ गए हैं कि दिन-दहाड़े हत्याओं का दौर जारी है. सोनभद्र के उम्भा गाँव में भू माफियाओं द्वारा 3 महिलाओं सहित 9 गोंड आदिवासियों की सरेआम हत्या ने दिल दहला दिया." उन्होंने दावा किया, ''प्रशासन-प्रदेश मुखिया-मंत्री सब सो रहे हैं. क्या ऐसे बनेगा अपराध मुक्त प्रदेश ?

कमेंट करें
J6nPg