comScore

चर्चा में बने रहने के लिए लोगों को बरगला रहे हैं आंबेडकर -मलिक

चर्चा में बने रहने के लिए लोगों को बरगला रहे हैं आंबेडकर -मलिक

डिजिटल डेस्क, मुंबई। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने आरोप लगाया है कि वंचित बहुजन आघाडी प्रमुख प्रकाश आंबेडकर मीडिया में बने रहने के लिए जनता को बरगला रहे हैं। राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि आंबेडकर ने एक बार फिर प्रेस कांफ्रेंस कर कहा है कि वे कांग्रेस-राकांपा के साथ नहीं जाएंगे। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में प्रकाश आंबेडकर अलग चुनाव लड़े थे। उनको गठबंधन चाहिए ही नहीं। विधानसभा चुनाव भी उनको अकेले लड़ना है। मलिक ने कहा कि वंचितों का वोट बंटने से भाजपा-शिवसेना को लाभ होगा। यह बात जनता को पता चल गई है। लोकसभा चुनाव जैसी गलती लोग विधानसभा चुनाव में नहीं करेंगे। राकांपा नेता ने कहा कि कांग्रेस-राकांपा आगामी विधानसभा चुनाव एकजुट होकर मजबूती से लड़ेंगे। लोकसभा चुनाव में जो मित्रदल हमारे साथ थे, वे विधानसभा चुनाव में भी साथ होंगे।     

इधर राकांपा पूर्व प्रदेश अध्यक्ष भास्कर जाधव शिवसेना में होंगे शामिल

गुहागार से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के विधायक व राकांपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष भास्कर जाधव 13 सितंबर को अपने समर्थकों के साथ शिवसेना में शामिल होंगे। जाधव के साथ 9 जिला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य और 73 सरपंच भी शिवसेना में शामिल होंगे। समझा जा रहा है कि जाधव के पार्टी में शामिल होने के बाद गुहागार तालुका में एक बार फिर शिवसेना का दबदबा हो जाएगा।   जाधव के मुताबिक उन्होंने राकांपा अध्यक्ष शरद पवार से बातचीत के बाद पार्टी छोड़ने का फैसला किया है। पार्टी को उन्होंने अपनी ओर से लिखित में इसकी जानकारी भी दे दी है। आगामी विधानसभा चुनावों में पहले से कमजोर दिख रही कांग्रेस और राकांपा को लगातार उनके ही नेता झटके दे रहे हैं।

सोमवार को सुनील तटकरे के भतीजे विधायक अवधूत तटकरे भी राकांपा छोड़कर शिवसेना में शामिल हो गए। सोमवार को पत्रकारों से बातचीत में जाधव ने कहा कि वे शुक्रवार को मातोश्री में शिवसेना पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे की मौजूदगी में शिवसेना में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि इस बारे में उन्होंने शरद पवार से बातचीत कर उन्हें जानकारी दे दी है साथ ही राकांपा के सामने लिखित स्वरूप में भी अपनी बात रखी है। जाधव ने इस बात की भी पुष्टि की कि उनके साथ उनके समर्थक जिला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य और सरपंच भी शिवसेना में शामिल होंगे। फैसले से पहले जाधव ने अपने समर्थकों के साथ बैठक कर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से नाराजगी की वजह बताई थी। 
 

कमेंट करें
f51wi