comScore

शाहिद अफरीदी ने लगाया अपनी बेटियों के खेलने पर बैन, बाहर खेलने की इजाजत नहीं


हाईलाइट

  • शाहिद अफरीदी ने अपनी बेटियों के खेलने पर लगा रखा प्रतिबंध
  • सिर्फ घर में खेलने की इजाजत
  • अपनी आत्मकथा 'गेम चेंजर' में किया जिक्र

डिजिटल डेस्क, कराची। पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी शाहिद अफरीदी ने अपनी बेटियों के खेलने पर बैन लगा रखा है। अफरीदी ने अपनी आत्मकथा गेम चेंजर में कई विवादित बातें लिखी है। शाहिद अफरीदी ने लिखा है कि वह सामाजिक और धार्मिक कारणों से अपनी चार बेटियों (अंशा, अजवा, असमारा और अक्सा) को बाहर जाकर खेलने की इजाजत नहीं देते। नारीवादी लोग मेरे फैसले के बारे में जो चाहे कह सकते हैं। अफरीदी ने कहा कि, उनकी बेटियां स्पोट्स में अच्छी है, लेकिन उन्हें इनडोर खेल की अनुमति है।

उन्होंने कहा, अजवा और असमारा सबसे छोटी हैं। जबतक वे घर में हैं, उन्हें मेरी तरफ से हर गेम खेलने की अनुमति है, सिर्फ क्रिकेट नहीं। अफरीदी ने कहा कि, मेरी चारों बेटियों को इनडोर गेम खेलने की अनुमति है, लेकिन सार्वजनिक खेल गतिविधियों में भाग नहीं ले सकती। 

अफरीदी की आत्मकथा काफी सुर्खियां बटोर रही है। उन्होंने अपनी किताब में पूर्व भारतीय खिलाड़ी गौतम गंभीर पर भी आरोप लगाए है। अफरीदी ने ऑटोबायोग्राफी गेम चेंजर में लिखा है कि गंभीर नेगेटिव खिलाड़ी है। उन्होंने लिखा, गंभीर मैदान में ऐसा व्यवहार करते है जैसे वह डॉन ब्रेडमैन और जेम्स बॉन्ड का मिश्रण हैं। कराची में ऐसे लोगों को सड़ियल बुलाते हैं।

बता दें कि शाहिद अफरीदी और गौतम गंभीर मैदान में कई बार उलझ चुके हैं। वर्ष 2007 में कानपुर वनड के दौरान शाहिद और गौतम के बीच तीखी बहस हो गई थी। अंपायर ने बीचबचाव कर दोनों को अलग किया था। उल्लेखनीय है कि हाल ही में रिलीज हुआ शाहिद अफरीदी की आत्मकथा में कई रहस्य को उजागर किया है। उन्होंने इसमें कश्मीर और 2010 स्पॉट फिक्सिंग मामले का जिक्र किया है। 

कमेंट करें
F0l2P