comScore

चुनाव से पहले पुलवामा जैसी घटना ही लोगों का मूड बदल सकती है: शरद पवार

चुनाव से पहले पुलवामा जैसी घटना ही लोगों का मूड बदल सकती है: शरद पवार

हाईलाइट

  • शरद पवार ने कहा, 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार के खिलाफ लोगों में बहुत गुस्सा था
  • पुलवामा हमले ने पूरी स्थिति बदल दी

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव से पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार ने शुक्रवार को कहा कि, महाराष्ट्र में बीजेपी सरकार के खिलाफ लोगों में बहुत गुस्सा है और पुलवामा हमले जैसी घटना ही चुनाव के पहले महाराष्ट्र के लोगों के मूड को बदल सकती है। पवार ने 2019 लोकसभा चुनाव का जिक्र करते हुए कहा, लोकसभा चुनाव से पहले भी मोदी सरकार के खिलाफ लोगों में बहुत नाराजगी थी, लेकिन पुलवामा हमले ने पूरी स्थिति को ही बदल दिया।

शुक्रवार को पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात करने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में शरद पवार ने कहा, लोकसभा चुनाव 2019 के पहले लोगों में मोदी सरकार के प्रति गुस्सा था, लेकिन पुलवामा में हुए आतंकी हमले ने पूरी स्थिति को बदलकर रख दिया। आगामी विधानसभा चुनाव के पहले मैं प्रदेश सरकार के खिलाफ लोगों में गुस्सा देख रहा हूं।

पवार के कहा, चुनाव के लिए हम धर्मनिरपेक्ष ताकतों को साथ लाने की कोशिश कर रहे हैं। कांग्रेस और एनसीपी एक साथ आए हैं। हम बहुजन विकास अगाड़ी, समाजवादी पार्टी और अन्य छोटे दलों को अपने साथ लेने की कोशिश कर रहे हैं। एनसीपी, राज ठाकरे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के साथ हाथ मिलाने को भी तैयार थी, लेकिन कांग्रेस इसके लिए राजी नहीं हुई।

पवार ने यह भी कहा कि, कुछ नेताओं का कहना है, वे अपने निर्वाचन क्षेत्रों के विकास को सुनिश्चित करने के लिए भाजपा या शिवसेना में शामिल हो रहे हैं, लेकिन 52 साल के अपने राजनीतिक करियर में मैं लंबे समय तक सत्ता में नहीं रहा। फिर भी बारामती के विकास में बाधा नहीं आई।

कमेंट करें
oXGsx