comScore

भारत को ताकतवार बनाने के लिए अमेरिका संसद में लाया अहम बिल


हाईलाइट

  • अमेरिका संसद लाया बिल।
  • बिल पास होते ही भारत को मिलेगा नाटो का दर्जा।
  • भारत-अमेरिका का रिश्ता होगा मजबूत।

डिजिटल डेस्क, वॉशिंगटन। अमेरिका हर मोर्चे पर भारत के साथ खड़ा हो रहा है। अब अमेरिका भारत के रिश्तों पर एक कदम और आगे बड़ा है। करीब दर्जन प्रभावशाली अमेरिकी सांसदों ने एक अहम बिल पेश किया है। अगर यह बिल पास हो जाता है तो अमेरिका विदेश विभाग भारत को नाटो (नॉर्थ अटलांटिक ट्रीटी ऑर्गेनाइजेशन) सहयोगी का दर्जा देगा। इसे भारत को नाटो सहयोगी देश के तौर पर प्राथमिकता मिलेगी। 

इस बिल पर काम कर रहे यूएस-इंडिया स्ट्रैटेनिक पार्टनरशिप फोरम के अनुसार, इस बात का संकेत है कि रक्षा सौदों में भारत अमेरिका के लिए सबसे आगे हैं। बीते सप्ताह सांसद जो विल्सन ने बिल एचआर 2123 पेश किया था। वह हाउस फॉरेन अफेयर्स कमेटी के सीनियर सदस्य हैं। विल्सन ने कहा कि, भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है। भारत ने निर्यात नियंत्रण की नीतियों पर हमेशा प्रतिबद्धता दिखाई है। 

उन्होंने कहा, यह बिल भारत-अमेरिका के रिश्तों को मजबूत करेगा। मैं यूएस-इंडिया स्ट्रैटेजिक पार्टनरशिप फोरम को धन्यवाद करता हूं, जिसने इस बिल में अपना सहयोग दिया है। इस बिल के समर्थन देने में एमी बेरा, जॉर्ज होल्डिंग, ब्रैड शेरमैन, तुलसी गबार्ड और टेड योहो का नाम शामिल है। 

बता दें कि नेशनल डिफेंस ऑथराइजेशन एक्ट, 2017 में भारतीय अमेरिकी रक्षा साझेदारी को देखते हुए भारत को प्रमुख रक्षा सहयोगी का दर्जा दिया गया था। इसमें भारत के साथ व्यापार और तकनीक साझा करने पर विशेष सहयोग और प्राथमिकता देने की बात कही गई थी। 

कमेंट करें
SsGmw