comScore

जज विवाद : यशवंत सिन्हा ने मोदी के मंत्रियों को उकसाया, ममता ने भी कसा तंज

January 13th, 2018 23:42 IST
जज विवाद : यशवंत सिन्हा ने मोदी के मंत्रियों को उकसाया, ममता ने भी कसा तंज

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के 4 वरिष्ठ जजों ने शुक्रवार को चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ सही से काम नहीं करने के गंभीर आरोप लगाए। इस विवाद को लेकर अब पक्ष और विपक्ष के विरोधियों ने भी मोदी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में बीजेपी के सीनियर लीडर यशवंत सिन्हा और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मोदी सरकार जमकर हमला बोला है। पार्टी से नाराज चल रहे सिन्हा ने तो पीएम नरेंद्र मोदी के मंत्रियों को उकसाते हुए यहां तक कह दिया कि चारों जजों की तरह ही मोदी के मंत्रियों को भी लोकतंत्र के लिए बोलना चाहिए।

संसद में भी समझौता किया जा रहा है
वहीं भाजपा और मोदी सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट विवाद को न्यायपालिका का आंतरिक विवाद बताया जा रहा है। मगर इसके विपरित शनिवार को यशवंत सिन्हा ने इस विवाद पर बोलते हुए कहा कि जजों की तरह ही बीजेपी पार्टी के नेताओं और कैबिनेट में शामिल मंत्रियों को भी लोकतंत्र के लिए आवाज उठानी चाहिए। सिन्हा ने कहा कि यदि संसद के कामकाज से समझौता किया जा रहा है, सुप्रीम कोर्ट का काम सही से नहीं चल पा रहा है तो लोकतंत्र खतरे में है।

जजों ने गंभीर सवाल उठाए, जस्टिस लोया की मौत पर सही जांच होनी चाहिए : राहुल गांधी

पत्रकारों से बात करते हुए यशवंत सिन्हा ने कहा कि यदि सुप्रीम कोर्ट के 4 सबसे सीनियर जज कहते हैं कि लोकतंत्र खतरे में है तो हमें उसे गंभीरता से लेना चाहिए। सिन्हा ने 4 जजों के बयानों का हवाला देते हुए कहा कि मौजूदा हालात 1975-77 के दौरान की इमरजेंसी जैसे हो गए हैं। यही नहीं संसद के सत्र की अवधि कम किए जाने को लेकर भी उन्होंने चिंता जताई।




आज देश को यह भी दिन देखना पड़ रहा है

मामले में जब विरोधियों ने पीएम को घेरना शुरू कर दिया हो तो ऐसे में बंगाल की सीएम ममता कहां पीछे रहने वाली हैं। उन्होंने भी सोशल मीडिया ट्विटर पर पोस्ट करते हुए कहा कि यह घटना बेहद चिंतित करने वाला व देश के लिए दुखद है। उन्होंने लिखा कि न्यायपालिका व मीडिया लोकतंत्र के खंभे हैं, लेकिन जिस प्रकार से केंद्र सरकार न्यायपालिका में हस्तक्षेप कर रही है, वह लोकतंत्र के लिए खतरनाक है।

ममता ने कहा कि आज देश को यह दिन देखना पड़ रहा है कि सुप्रीम कोर्ट के जज को मीडिया के सामने आकर अपनी बातें कहनी पड़ रही है। लोगों के लिए इससे दुखद बात और कुछ नहीं हो सकती।

कमेंट करें
0plMm