दैनिक भास्कर हिंदी: UP: हाथरस गैंगरेप केस पर सीएम योगी ने तोड़ी चुप्पी, ट्वीट कर कहा- अपराधियों का समूल नाश सुनिश्चित

October 2nd, 2020

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए गैंगरेप-हत्या के मामले को लेकर देशभर में आक्रोश व्याप्त है। इसी बीच शुक्रवार को राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुप्पी तोड़ी है। सीएम योगी ने ट्वीट कर कहा है कि, यूपी में माताओं-बहनों के सम्मान-स्वाभिमान को क्षति पहुंचाने का सिर्फ विचार रखने वालों का समूल नाश सुनिश्चित है।

सीएम योगी ने कहा, घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों को ऐसा दंड मिलेगा जो भविष्य में उदाहरण प्रस्तुत करेगा। उन्होंने कहा, यूपी सरकार प्रत्येक माता-बहन की सुरक्षा और विकास हेतु संकल्पबद्ध है। यह हमारा संकल्प और वचन है। मुख्यमंत्री के इस ट्वीट के बाद अब माना जा रहा है कि, योगी सरकार जल्द ही कोई बड़ा कदम उठा सकती है। हाथरस के DM और SP के खिलाफ भी कार्रवाई हो सकती है।

ये है पूरा मामला
गौरतलब है कि, 14 सितंबर को उत्तर प्रदेश के हाथरस (Hathras) में चंदपा थाना क्षेत्र की रहने वाली 19 वर्षीय युवती को दरिंदों के हवस का शिकार बनाया। युवती पशुओं का चारा लेने खेत पर गई थी, इसी दौरान गांव के ही चार युवकों ने युवती को उसके गर्दन में पड़े दुपट्टे से खींच लिया। गैंगरेप के बाद हैवानों ने युवती की जीभ काटी, रीढ़ की हड्डी तोड़ी, गला घोंटने की कोशिश की। जिससे वह न तो बोल सके और न ही चल सके। वारदात के बाद युवती कई दिनों तक बेहोश रही। शुरुआती इलाज के लिए उसे अलीगढ़ के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। 

परिवार की गैरमौजूदगी में पुलिस ने युवती का किया अंतिम संस्कार
21 सितंबर को युवती के होश में आने के बाद की गई डॉक्टरी परीक्षण के दौरान मेडिकल रिपोर्ट में गैंगरेप की पुष्टि हुई। इसके बाद मामले ने तूल पकड़ा। युवती ने आरोपियों के नाम बताए। बाद में हालत बिगड़ने पर सोमवार को उसे दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में रेफर किया गया। मंगलवार सुबह करीब 4 बजे युवती की मौत हो गई। घटना यहीं नहीं खत्म हुई। मौत के बाद परिवार की गैरमौजूदगी में पुलिस ने युवती का रात में ही अंतिम संस्कार कर दिया। जिसके बाद से लोग और विपक्षी दल योगी सरकार पर हमलावर हैं और इंसाफ के लिए विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं।

आरोपियों की पहचान
हालांकि गैंगरेप करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जिनकी पहचान पीड़िता के गांव के ही रहने वाले लवकुश, संदीप, रवि और रामू के रूप में हो चुकी है। आरोपियों को दुष्कर्म, हत्या के प्रयास और एससी/एसटी अधिनियम की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया है। जांच के लिए SIT भी गठित की जा चुकी है। 

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म का जिक्र नहीं
इसी बीच गुरुवार को हाथरस की पीड़िता की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आई। सफरदजंग हॉस्पिटल की इस रिपोर्ट में गैंगरेप का जिक्र नहीं है। रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़िता की गर्दन पर चोट के निशान और रीढ़ की हड्डियां टूटी हुई हैं।

वहीं 19 साल की दलित लड़की से हुए सामूहिक दुष्कर्म की घटना का राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने गुरुवार को संज्ञान लेते हुए योगी आदित्यनाथ सरकार को नोटिस जारी किया। सरकार को 4 हफ्तों के अंदर नोटिस का जवाब देने के लिए कहा गया है।

 

खबरें और भी हैं...