कर्नाटक : कर्नाटक : वामपंथियों का अरोप, तेजस्वी सूर्या केएसआरटीसी अस्पताल के निजीकरण के प्रयास में

July 25th, 2022

हाईलाइट

  • सरकारी समर्पित अस्पताल का निजीकरण

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरू। वामपंथी संगठनों ने आरोप लगाया है कि बेंगलुरू दक्षिण के सांसद और भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या एक सरकारी अस्पताल का निजीकरण करने की कोशिश कर रहे हैं, हालांकि भाजपा नेता ने इससे इनकार किया है।

कर्नाटक राज्य सड़क परिवहन निगम (केएसआरटीसी) कर्मचारी और श्रमिक संघ के अध्यक्ष एच.वी. अनंत सुब्बाराव ने सोमवार को आरोप लगाया है कि युवा सांसद तेजस्वी सूर्य मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई, परिवहन मंत्री श्रीरामुलु और अधिकारियों पर केएसआरटीसी कर्मचारियों को सरकारी समर्पित अस्पताल का निजीकरण करने का दबाव बना रहे हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ने कर्मचारियों के इलाज के लिए बेंगलुरू के जयनगर इलाके में केएसआरटीसी अस्पताल स्थापित किया है। दशकों से केएसआरटीसी के हजारों कर्मचारी यहां इलाज का लाभ उठा रहे हैं।

अनंत सुब्बाराव ने कहा, तेजस्वी सूर्या डायलिसिस सेंटर स्थापित करने के लिए वासवी ग्रुप को अस्पताल को 30 साल के लिए लीज पर देना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, एक बार जब कोई ड्राइवर केएसआरटीसी में 30 साल की सेवा पूरी कर लेता है, तो उसे कई बीमारियां हो जाती हैं। इस समस्या पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। अस्पताल के निजीकरण की योजना केवल मतदाताओं के एक वर्ग को आश्वस्त करने के लिए की जा रही है।

हालांकि, तेजस्वी सूर्या ने स्पष्ट किया था कि वह केएसआरटीसी अस्पताल को पट्टे पर देने की कोशिश नहीं कर रहे हैं और न ही सरकारी अधिकारियों पर दबाव बना रहे हैं।

 

आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.