दैनिक भास्कर हिंदी: मप्र: कमलनाथ का छल्का दर्द, बोले- दिग्विजय ने दिलाया था विश्वास विधायक नहीं टूटेंगे, फिर भी मिला धोखा

May 2nd, 2020

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) ने न्यूज चैनल से बातचीत में बड़ी बात कही। उन्होंने कहा कि वे अपनी सरकार इसलिए नहीं बचा सकें, क्योंकि दिग्विजय सिंह (Digvijaya Singh) ने उसने सरकार नहीं गिरने का वादा किया था। उन्होंने कहा, सब कुछ स्थिति को ठीक से समझ नहीं पाने के कारण हुआ। दिग्विजय को लगा था कि कुछ विधायक दिन में तीन बार उनसे मिलते हैं बात करते हैं, वो पार्टी का साथ नहीं छोड़ेंगा, लेकिन उन्होंने धोखा दे दिया। 

मुझे पता था ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा के संपर्क में है
पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा कि मुझे पता था कि ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) लोकसभा चुनाव हारने के बाद जुलाई से भाजपा के संपर्क में है। वह इस बात को पचा नहीं पाए कि वह एक लाख से अधिक वोटों से लोकसभा चुनाव हार गए। वो भी उस प्रत्याशी से जो कांग्रेस का साधारण कार्यकर्ता था। सिंधिया अपनी हार के बाद भाजपा के संपर्क में थे, हालांकि बीजेपी की राज्य इकाई ने उन्हें कभी नहीं चाहा। 

Lockdown Extension: अगर है उम्र 10 से कम या 65 से ज्यादा तो घर पर ही रहना होगा

सब आंकड़ों का खेल है
प्रदेश में वापसी को लेकर कमलनाथ ने कहा कि यह सब आंकड़ों का खेल है। हमरे पास अभी 92 विधायक है और बीजेपी के पास 107 हैं। 24 सीटों के लिए उपचुनाव होने हैं। इसलिए हमें कम से कम 15 सीटें बीजेपी के बराबर आने के लिए जीतनी होंगी।