दैनिक भास्कर हिंदी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिली ममता बनर्जी, कहा- हमें जनसंख्या के हिसाब से वैक्सीन चाहिए

July 27th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। पीएम मोदी से मुलाकात के बाद ममता ने कहा, तीसरी बार सरकार बनाने के बाद ही प्रधानमंत्री से मिलने के लिए समय मांगा था। पीएम कलाईकुंडा गए थे। हम व्यक्तिगत रूप से नहीं मिले। यह हमारा सौजन्य दौरा था। ममता बनर्जी ने कहा कि मैंने पीएम मोदी के सामने वैक्सीन को लेकर राज्य की ओर से अपनी बात रखी। हमने कहा कि राज्य की जनसंख्या के हिसाब से वैक्सीन की जरुरत है। जिस पर पीएम मोदी ने कहा, जरूर। ममता अब शाम साढ़े 6 बजे वह फिर से कांग्रेसी नेता अभिषेक मनु सिंघवी से मुलाकात करेंगी। 

 

केंद्र सरकार के खिलाफ 2024 के लिए रणनीति बना रही पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, दिल्ली में विपक्षी नेताओं से मुलाकात कर रही हैं। इसी सिलसिले में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ ने मंगलवार दोपहर 2 बजे ममता बनर्जी से मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच मंगलवार दोपहर करीब 40 मिनट तक यह मुलाकात चली। इस मुलाकात के बाद ममता बनर्जी कमलनाथ को दिल्ली स्थित टीएमसी के दफ्तर के बाहर तक छोड़ने आईं। ममता बनर्जी ने प्रशांत किशोर से भी मुलाकात की।

मुलाकात के बाद कमलनाथ ने कहा कि मैं ममता जी को बधाई देने आया था। बंगाल में मिली चुनावी जीत के बाद उन्हें बधाई दी। देश के मौजूदा हालात पर ममता बनर्जी से चर्चा हुई। इसके साथ ही महंगाई जैसे विषयों पर भी चर्चा की गई। कमलनाथ ने कहा कि ममता जी से मेरे पुराने रिश्ते हैं। उनकी बंगाल में हुई जीत ने देश को एक संदेश दिया है। ममता बनर्जी सच के साथ खड़ी हैं। बता दें कि ममता बनर्जी दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मिलेंगी। हालांकि सोनिया गांधी से मुलाकात का कार्यक्रम अभी तय नहीं हुआ है।

गौरतलब है कि अपने दिल्ली दौरे से पहले ही ममता बनर्जी ने उत्तर भारत में अपनी मौजूदगी दर्ज कराई है। इसके लिए इस बार 21 जुलाई को टीएमसी द्वारा मनाए गए शहीद दिवस पर खास तैयारी की गई थी। ये पहली बार रहा जबकि ममता बनर्जी का भाषण अन्य राज्यों में भी प्रसारित किया गया। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हिंदी में भाषण दिया जिसे दिल्ली, उत्तर प्रदेश और गुजरात में पार्टी मुख्यालय के बाहर एलईडी टीवी पर सुना गया। वहीं दिल्ली के आयोजन में दूसरे राजनीतिक दलों के नेताओं को भी बुलाया गया था। ममता बनर्जी की इस तैयारी को 2024 लोकसभा चुनाव के रण से जोड़कर देखा जा रहा है।

ममता बनर्जी व कांग्रेस नेताओं के बीच हुई इस मुलाकात को विपक्षी दलों को एक साथ लाने की कवायद के तौर पर देखा जा रहा है। गौरतलब है कि इससे पहले चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने शरद पवार समेत कई विपक्षी नेताओं से मुलाकात की थी। प्रशांत किशोर ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान ममता बनर्जी के लिए काम किया था। बीते दिनों प्रशांत किशोर दिल्ली में सोनिया गांधी, राहुल गांधी व प्रियंका गांधी से भी मुलाकात कर चुके हैं। 

वहीं, बनर्जी के दिल्ली दौर पर निशाना साधते हुए भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी फर्जी टीकाकरण शिविर मामला, चुनाव बाद हिंसा और अन्य मुद्दों को लेकर आलोचनाओं का सामना कर रही हैं और इससे बचने के लिए वह कुछ दिन के लिए राज्य से बाहर रहना चाहती हैं। उन्होंने दावा किया कि विपक्षी दलों को एकजुट करने का बनर्जी का प्रयास सफल नहीं होगा।

 

खबरें और भी हैं...