पंजाब विधानसभा चुनाव 2022: बड़ी मुसीबत में घिरे नवजोत सिंह सिद्धू , 34 साल पुराने रोडरेज मामले में SC में सुनवाई

February 3rd, 2022

हाईलाइट

  • मुसीबत में सिद्धू

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू बड़ी मुसीबत में घिरते हुए दिखाई दे रहे है। सिद्धू के एक 34 साल पुराने रोडरेज केस में आज शीर्ष अदालत में सुनवाई होने वाली है। खबरों के मुताबिक अपनी सलामती की दुआ मांगने के लिए कांग्रेस नेता सिद्धू  वैष्णो देवी के मंदिर पहुंचे हैं। 

जस्टिस ए एम खानविलकर और जस्टिस संजय किशन कौल पुनर्विचार याचिका पर विचार करते हुए दोबारा सुनवाई के लिए राजी हुए। दोनों जजों की बेंच आज  दोपहर में पूरे मामले की फिर से सुनवाई करेगी।  कोर्ट ने साफतौर पर कहा कि मामले में सिर्फ सजा बढ़ाने की मांग पर विचार होगा। आपको बता दें इससे पहले उच्चतम न्यायालय ने आईपीसी की गैरइरादतन हत्या की धारा 323  के तहत दोषी माना था। आज केवल इसी धारा में मिलने वाली सजा को लेकर सुनवाई होगी। जानकारी के मुताबिक इस धारा में अधिकतम एक साल तक की कैद का प्रावधान है। जबकि सिद्धू को केवल जुर्माने पर छोड़ दिया था। 

 

आपको बता दें इस मामले में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सिद्धू को एक हजार जुर्माने की सजा सुनाई थी। जिस पर अब दोबारा सुनवाई होने वाली है। पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट ने सिद्धू और उनके दोस्त कंवर सिंह संधू को गैर इरादतन हत्या का दोषी मानते हुए तीन तीन साल की सजा दी थी। लेकिन जुलाई 2018 में सुप्रीम कोर्ट ने कंवर सिंह संधू को पूरी तरह बरी कर दिया। जबकि, सिद्धू को सिर्फ मारपीट का दोषी माना और सिर्फ 1 हज़ार रुपए जुर्माने की सज़ा दी।  पंजाब  के पटियाला में साल 1988 में हुई इस घटना में गुरनाम सिंह  नाम के व्यक्ति की मौत हो गई थी।गुरनाम सिंह के परिवार ने  कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका लगाते हुए  सजा पर दोबारा से विचार करने की मांग की है।


 

खबरें और भी हैं...