comScore

Video Conferencing: पीएम मोदी की अंडमान-निकोबार के कार्यकर्ताओं से बात, शेयर किया डेवलपमेंट प्लान


डिजिटल डेस्क, पोर्ट ब्लेयर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को अंडमान निकोबार के कार्यकर्ताओं के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की। उन्होंने कहा- देश की आजादी के आंदोलन को धार देने वाली, वीर सावरकार और नेताजी सुभाष चंद्र बोस जैसे आजादी के अनेक तपस्वियों से जो धरती जुड़ी हुई है, ऐसी पुण्य स्थली को मैं वंदन करता हूं। सेवा और समर्पण के संस्कारों को हमें समृद्ध करना है, आगे बढ़ाना है। बीमारी हो या व्यापार, कारोबार हर समस्या से निपटने के लिए हम जुटे हुए हैं, हमारे सभी वैज्ञानिक इस काम में लगे हुए हैं।

पीएम ने कहा, जब मैं अंडेमान गया था, तो देवस्थली तुल्य सेल्यूलर जेल के दर्शन किये थे। मुझे पोर्टब्लेयर के दक्षिणी छोर पर तिरंगा फहराने का भी सौभाग्य प्राप्त हुआ। इस दौरान अंडमान-निकोबोर के संपूर्ण और संतुलित विकास से जुड़े अनेक प्रोजेक्ट को मंजूरी भी दी गई थी। पीएम ने कहा, एक आइलैंड से दूसरे आइलैंड तक एयर कनेक्टिविटी में सुधार करते हुए देश के बाकी हिस्सों से आईलैंड्स को Airways से भी जोड़ा जा रहा है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ब्लू इकॉनॉमीज और ट्रेड के लिहाज से अंडमान और निकोबार स्ट्रेटजिक लोकेशन पर है। यह चेन्नई पोर्ट, कोलकाता पोर्ट और बांग्लादेश के मोंगला सहित कई पोर्ट से बहुत प्रतिस्पर्धात्मक दूरी पर है। आत्मनिर्भर भारत के लिए, नए भारत की रक्षा-सुरक्षा और समृद्धि के लिए भी अंडमान-निकोबार की व्यापक भूमिका है। इसी को समझते हुए 2017 में आईसलैंड डेवलपमेंट एजेंसी का गठन किया गया था।

पोर्ट ब्लेयर एयरपोर्ट का बड़े पैमाने पर विस्तार किया जा रहा है। इस क्षेत्र के युवाओं के लिए कई उच्च शिक्षा संस्थान बनाए गए हैं। आइलैंड का जीवन आसान बनाने के लिए, वहां खुशहाली लाने के लिए जो भी ज़रूरी काम है, वो तेज़ी से पूरे किए जा रहे हैं। हमारे देश का शौभाग्य है कि हमारे पास अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग चीजें हैं, जिनकों हम विकसित कर सकते हैं। जैसे हम अंडमान निकोबार से सी प्रोडक्ट्स, कोकोनट प्रोडक्ट्स जैसे उद्योगों को हम बल देने वाले हैं।

क्या कहा जेपी नड्डा ने?
इस दौरान बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। नड्डा ने कहा- कोरोना संकट के दौरान कार्यकर्ताओं ने लगभग 22 करोड़ 18 लाख फूड पैकेट्स जरूरतमंद तक पहुंचाएं। उन्होंने ये भी बताया कि आज, हमारे पास 1,400 COVID अस्पताल हैं। 50,000 से अधिक वेंटिलेटर है। इनमें से 20,000 से ज्यादा वेंटिलेटर PM-CARES फंड से मिले हैं। नड्डा ने कहा, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज की यूएन ने भी सराहना की है। 80 करोड़ की जनता, जो इस लॉकडाउन में सबसे ज्यादा परेशानी में थी, उन लोगों के लिए भी 5 किलो गेहूं या चावल और 1 किलो दाल की निशुल्क व्यवस्था की।

आत्मनिर्भर भारत के लिए प्रधानमंत्री ने 20 लाख करोड़ का पैकेज दिया। एमएसएमई के लिए 3 लाख करोड़ रुपये दिए गए। उसमें से 1 लाख करोड़ रुपये का लाभ एमएसएमई सेक्टर उठा चुका है। किसान सम्मान निधि के माध्यम से अप्रैल महीने में लगभग 8 करोड़ 50 लाख किसानों के खाते में 2000 रुपये की किस्त गई है। उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत आज 17,100 करोड़ रुपये रिलीज किए हैं।

कमेंट करें
C4T1N