comScore

बयान: गडकरी बोले- सरकार MSME क्षेत्र में कारोबारी सुगमता के लिए नियमों को बना रही सरल

बयान: गडकरी बोले- सरकार MSME क्षेत्र में कारोबारी सुगमता के लिए नियमों को बना रही सरल

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केन्द्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि देश की भलाई एमएसएमई क्षेत्र की बेहतरी से ही संभव है। इसलिए सरकार कारोबारी सुगमता के लिए एमएसएमई क्षेत्र में नियमों को सरल बना रही है।

केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि एमएसएमई उद्योगों का अर्थव्यवस्था, निर्यात और रोजगार सृजन में काफी योगदान है। इस बात को ध्यान में रखते हुए अधिकारियों से कहा है कि वे एमएसएमई क्षेत्र के लिए ऐसी योजनाएं और पहलें शुरु करें, जो विकासोन्मुख, समग्र और पर्यावरण के अनुकूल हों। उन्होंने कहा कि सरकार बेहतर अवसंरचना विकास, वित्त की उपलब्धता, प्रौद्योगिकी, बाजार और कौशल के माध्यम से एमएसएमई क्षेत्र को सशक्त बनाना चाहती है। यह सब एक ऐसे माहौल में किया जाना है, जिससे कारोबार सुगम हो सके।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार एमएसएमई क्षेत्र को वित्त की उपलब्धता बढ़ाने पर काम कर रही है और बैंकों ने इस वर्ष इन्हें ऋण देने के मामले में बेहतर काम किया है। उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि बेहतर प्रद र्शन करने वाले एमएसएमई को पूंजी बाजार से पैसा उठाना चाहिए।

केन्द्रीय मंत्री ने बुधवार को नई दिल्ली में एमएसएमई उद्योगों को विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से पुरस्कृत किया। पुरस्कार पाने वालों में महाराष्ट्र से पुणे स्थित मेसर्स इक्विनॉक्स सॉफ्टेवेयर सर्विस प्राइवेट लिमिटेड को सूक्ष्म और लघु उद्योग मंत सर्विस की श्रेणी में प्रथम पुरस्कार दिया गया। कंपनी के प्रमुख आलोक पंडित ने पुरस्कार स्वीकरा किया। एमएसएमई उद्योग में मध्यप्रदेश को दो पुरस्कार प्राप्त हुए। इसमें नवाचार के लिए इंदोर स्थित आईटीएल इंडस्ट्रिज लिमिटेड को तीसरा पुरस्कार, जबकि इंदोर की ही मिडियम एंडरप्राइजेस को उत्पादन की श्रेणी में पहला पुरस्कार मिला है

कमेंट करें
LfTGA