comScore

घटना: डोनाल्ड के बाउंसर से चोटिल होने पर अकरम को लगे थे 20 टांके

June 09th, 2020 10:40 IST
घटना: डोनाल्ड के बाउंसर से चोटिल होने पर अकरम को लगे थे 20 टांके

हाईलाइट

  • डोनाल्ड के बाउंसर से चोटिल होने पर अकरम को लगे थे 20 टांके

डिजिटल डेस्क, लाहौर। पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने दक्षिण अफ्रीका के पूर्व तेज गेंदबाज एलन डोनाल्ड के साथ एक रोचक घटना को याद किया है। एक समय की बात है, जब अकरम इंग्लैंड में लंकशायर की टीम से काउंटी क्रिकेट खेल रहे थे। एक मैच के दौरान अकरम जब बल्लेबाजी करने उतरे उन्हें डोनाल्ड ने घातक तेज शॉटपिच गेंद डाली और उनके चिन (थोड़ी) के नीचे जा लगी। इसके बाद अकरम चोटिल हो गए और उन्हें 20 टांके लगवाने पड़े थे।

अकरम ने अपने पूर्व टीम साथी बासित अली के साथ यूट्यूब चैनल पर कहा, मेरे यहां 20 टांके हैं। ठीक मेरी चिन (ठोड़ी) के नीचे। मुझे लगता है कि साल 1989 था और मैं पिच पर नंबर आठ पर बल्लेबाजी करने के लिए उतरा था। पूर्व पाकिस्तानी कप्तान ने कहा, उन्होंने एक शॉट पिच गेंद फेंकी, जो करीब 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार होगी। उस समय मैं अपने शुरुआती दिनों में एक युवा खिलाड़ी था और मैंने गेंद पर पुल शॉट मारने की कोशिश की। इस तरह बल्ले के ऊपरी किनारे पर गेंद लगते हुए सीधे मेरे चिन पर जा लगी।

अकरम ने कहा, इस घटना के बाद मेरे अंदर बदले की भावना पैदा हो गई थी और मैंने सोचा, मैं इस गेंदबाज को छोडूंगा नहीं। इसके बाद मैं डेंटिस्ट के पास गया और उसने मेरे 10 अंदर की तरफ व 10 बाहर टांके लगाए। उन्होंने आगे कहा, इसके बाद मुझे कुछ दिनों के लिए आराम करने को कहा गया था, लेकिन मैंने गेंदबाजी करने का निर्णय लिया। मैंने शाम को गेंदबाजी की और हम मैच जीत गए थे। हालांकि डोनाल्ड इससे इतना डर गए थे कि वो मेरे सामने दोबारा कभी बल्लेबाजी करने नहीं आए।

कमेंट करें
ymFeN
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।