comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया की वापसी, इंग्लैंड को 203 रन से दी करारी शिकस्त


हाईलाइट

  • भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रही टेस्ट सीरीज में भारत ने शानदार वापसी की।
  • भारत ने तीसरे टेस्ट में मेजबान इंग्लैंड को 203 रन के भारी अंतर से हरा दिया।
  • भारत द्वारा दिए गए 521 रन के टारगेट के जवाब में इंग्लैंड की टीम 317 रन ही बना सकी।

डिजिटल डेस्क, नॉटिंघम। भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रही टेस्ट सीरीज में भारत ने शानदार वापसी करते हुए तीसरे टेस्ट में मेजबान इंग्लैंड को 203 रन के भारी अंतर से हरा दिया। भारत द्वारा दिए गए 521 रन के टारगेट के जवाब में इंग्लैंड की टीम 317 रन ही बना सकी। चौथे दिन खेल खत्म होने तक मेजबान टीम ने 9 विकेट गंवाकर 311 रन बना लिए थे, लेकिन पांचवे दिन इंग्लैंड की अंतिम जोड़ी केवल 6 रन ही और जोड़ पाई। इंग्लैंड की ओर से दूसरी पारी में जोस बटलर ने 106 रन की शानदार शतकीय पारी खेली, जबकि बेन स्टोक्स ने 62 रन बनाए। इनके अलावा कोई भी बल्लेबाज क्रीज पर ज्यादा देर नहीं टिक सका। वहीं भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह ने 5 इंग्लिश खिलाड़ियों का शिकार किया, जबकि ईशांत शर्मा को 2 विकेट, मो. शमी एवं हार्दिक पंड्या को 1-1 विकेट मिला।



भारत ने दिया 521 रन का टारगेट
कप्तान विराट कोहली ने तेज तर्रार शतक ठोककर भारतीय टीम की दूसरी पारी को 352 रन पर घोषित कर दिया। भारतीय टीम ने यहां तक पहुंचने के लिए अपने 7 विकेट खोए। भारत की ओर से सर्वाधिक रन विराट कोहली (103) ने बनाए। कोहली के अलावा चेतेश्वर पुजारा (72), हार्दिक पंड्या (52) और शिखर धवन (44) ने भी दमदार पारी खेली। पहली पारी में मिली 168 रन की लीड और दूसरी पारी में बनाए 352 रन के साथ ही भारत ने इंग्लैंड के सामने जीत के लिए 521 रन का बड़ा टारगेट सेट किया। दूसरी पारी में इंग्लैंड की ओर से आदिल राशिद ने 3 और बेन स्टोक्स ने 2 विकेट चटकाए, जबकि क्रिस वोक्स और जेम्स एंडरसन को 1-1 विकेट मिला।

इंग्लैंड की पहली पारी
पहली पारी में इंग्लैंड के ओपनर्स ने टीम को अच्छी शुरुआत दी थी, मगर आगे के बल्लेबाज इसको बरकरार नहीं रख सके। अच्छी शुरुआत के बाद इंग्लिस टीम को 54 रन के स्कोर पर लगातार दो बड़े झटके लगे। दोनों ओपनर एलिस्टेयर कुक (29) और केटन जेनिंग्स (20) पवेलियन लौट गए। इसके बाद कप्तान जो रूट (16), जॉनी बेयरस्टॉ (15), जोस बटलर (39), और ओलिवर पोप (10) भी सस्ते में आउट हो गए। इस तरह भारत के 329 रन के जवाब में इंग्लैंड टीम 161 रन पर ऑलआउट हो गई। इस तरह भारत को 168 रन की लीड मिली।

मैच में भारत की ओर से सबसे सफल गेंदबाज हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पंड्या रहे। पंड्या ने अपने 6 ओवर के स्पेल में 28 रन देकर 5 इंग्लिश बल्लेबाजों का शिकार किया। इसके अलावा जसप्रीत बुमराह और ईशांत शर्मा ने 2-2 विकेट हासिल किए, जबकि मो. शमी को 1 सफलता मिली।

भारत की पहली पारी
इससे पहले मैच में मेजबान इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया था। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी के लिए मैदान में उतरी भारतीय टीम ने की शुरुआत कुछ खास अच्छी नहीं रही। भारत ने अपने तीन विकेट 82 रन पर ही गंवा दिए थे। ओपनर शिखर धवन 35 रन और केएल राहुल 23 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद आए चेतेश्वर पुजारा भी 14 रन बनाकर जल्दी पवेलियन लौट गए। कप्तान विराट कोहली और अजिंक्या रहाणे ने भारतीय पारी को संभालते हुए बड़े स्कोर तक पहुंचाया।

अपनी इस पारी में विराट कोहली एक और शतक बनाने के करीब थे, मगर 3 रन से चूक गए। राशिद ने कोहली को 97 रन के स्कोर पर चलता कर दिया। इसके बाद रहाणे भी 81 रन बनाकर कप्तान के पीछे-पीछे चलते बने। सातवें नंबर पर आए ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या भी ज्यादा देर क्रीज पर नहीं टिक सके और महज 18 रन बनाकर आउट हो गए। यहां मैच का पहला दिन खत्म हो गया था। इसके बाद मैच के दूसरे दिन पारी को आगे बढ़ाने मैदान में उतरे भारतीय खिलाड़ी कुछ ज्यादा खास नहीं कर सके और पूरी टीम 329 रन पर ऑलआउट हो गई। इंग्लैंड की ओर से जेम्स एंडरसन, स्टुअर्ट ब्रॉड और क्रिस वोक्स ने 3-3 भारतीय खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा, जबकि आदिल राशिद को 1-1 सफलता मिली।

बता दें कि पहले दो टेस्ट में हार झेलने के बाद भारतीय टीम के लिए यह मैच ‘करो या मरो’ की स्थिति वाला है। भारत इस तीसरे टेस्ट में जीत हासिल कर सीरीज में वापसी करने के लिए है। भारतीय टीम के लिए ट्रेंट ब्रिज में होने वाला यह टेस्ट उनके लिए सीरीज बचाने का अंतिम मौका होगा। भारत इस सीरीज में 2-0 से पीछे है। भारत ने पहले एजबेस्टन टेस्ट में 31 रन हार झेली थी, जबकि दूसरे लॉर्ड्स मैच में पारी व 159 रन से हार का मुंह देखना पड़ा था।

भारतीय टीम : विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्या रहाणे, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, आर अश्विन, ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह।

इंग्लैंड टीम : जो रूट (कप्तान), एलिस्टेयर कुक, केटन जेनिंग्स, जॉनी बेयरस्टॉ, जोस बटलर, ओलिवर पोप, आदिल राशिद,जेम्स एंडरसन, स्टुअर्ट ब्रॉड, क्रिस वोक्स, बेन स्टोक्स।

कमेंट करें
1sxZ2
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।