पहलवान-WFI विवाद : बृजभूषण शरण सिंह पर लगे आरोपों की जांच के लिए बनाई गई कमेटी से नाखुश पहलवान, कहा - नहीं ली हमारी राय 

January 24th, 2023

हाईलाइट

  • मैरीकॉम है कमेटी की अध्यक्ष

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर लगे आरोपों की जांच के लिए गठित की गई कमेटी पर बागी पहलवानों ने सवाल उठाए हैं। धरना प्रदर्शन में शामिल लगभग सभी पहलवानों ने समान ट्वीट कर जांच कमेटी के गठन पर सवाल उठाए हैं। विनेश, साक्षी और बजरंग ने अपने ट्विटर हैंडल से पोस्ट करते हुए कहा कि उन्हें आश्वासन दिया गया था कि ओवरसाइट कमेटी के गठन से पहले उनसे परामर्श किया जाएगा। बड़े दुख की बात है कि इस कमेटी के गठन से पहले उनसे राय भी नहीं ली गई। 

मैरीकॉम है कमेटी की अध्यक्ष 

बृजभूषण पर लगे यौन उत्पीड़न और भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच के लिए केंद्र सरकार ने बॉक्सिंग चैंपियन एमसी मैरी कॉम की अगुवाई में 5 सदस्यीय टीम गठित की है। इस बीच कहा गया है कि ओवरसाइट कमेटी में 5 में से 3 नाम धरने पर बैठने वाले पहलवानों की ओर से सुझाए गए थे। लेकिन ट्वीट कर अब उन्होंने दावा किया है कि उनसे इस बारे नै कोई सलाह नहीं ली गई है।

इस कमेटी में लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाले पहलवान योगेश्वर दत्त, पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी और मिशन ओलंपिक सेल की सदस्य तृप्ति मुरगुंडे, टॉप्स के पूर्व सीईओ राजगोपालन और भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) के पूर्व कार्यकारी निदेशक (टीम) राधिका श्रीमन शामिल हैं। निगरानी समिति 4 सप्ताह के भीतर जांच पूरी करेगी। मंत्रालय ने WFI की कार्यकारी समिति को तत्काल प्रभाव से संघ की दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों के प्रबंधन से दूर रहने का निर्देश दिया। 

तीन दिन तक धरने पर बैठे थे पहलवान, लगाए गंभीर आरोप 

विनेश फोगट, बजरंग पुनिया, साक्षी मलिक और रवि दहिया सहित देश के कुछ कुछ बड़े पहलवानों ने WFI और बृजभूषण सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। इस दौरान पहलवानों ने WFI अध्यक्ष पर यौन दुराचार, अभद्रता, उत्पीड़न, वित्तिय अनियमितताओं और प्रशासनिक चूक के आरोप लगाए थे। 
 

खबरें और भी हैं...