फ्राड: उपमुख्यमंत्री अजित पवार के नाम पर बिल्डर से मांगे 20 लाख, पुणे पुलिस ने छह को दबोचा

January 14th, 2022

डिजिटल डेस्क, मुंबई। उपमुख्यमंत्री अजित पवार के मोबाइल नंबर का इस्तेमाल करते हुए बड़े बिल्डर को धमकाकर 20 लाख रुपए मांगने वाले छह आरोपियों को पुणे पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने एक ऐप की मदद से अजित पवार के मोबाइल नंबर का इस्तेमाल किया था। आरोपियों ने बिल्डर को वाडेबोलाइ इलाके की एक जमीन को लेकर हुए विवाद को खत्म करने के लिए भी धमकाया था। बिल्डर की शिकायत के आधार पर पुणे के बंडगार्डन  पुलिस स्टेशन में आईपीसी और आईटी एक्ट की संबंधित धाराओं के तहत जबरन वसूली के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है। आरोपी पिछले 10 दिनों से अतुल गोयल नाम के बिल्डर को धमका रहे थे। आरोपियों ने गूगल प्लेस्टोर से फेक कॉल नाम का ऐप डाउनलोड किया था। जिसमें अजित पवार का नंबर डालकर बिल्डर को फोन करते और दावा करते कि वे अजित पवार के पीए चौगुले बोल रहे हैं। शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज कर पुलिस ने छानबीन शुरू की तो आरोपियों की हरकतों का खुलासा हुआ। इसके बाद मामले में नवनाथ चोरमले, सौरभ काकडे, सुनील उर्फ बाला वाधमारे, किरण काकडे, आकाश निकालजे और चैतन्य वाघमारे नाम के आरोपियों को गिरफ्तार किया है। 

कारोबारी से 2 करोड़ मांगने वाला बेंगलुरू से गिरफ्तार

मुंबई की साइबर पुलिस ने महानगर के एक कारोबारी से 2 करोड़ रुपए हफ्ता मांगने वाले आरोपी को बेंगलुरू से गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी का नाम महेश पुजारी उर्फ लंबू है। शिकायतकर्ता को पिछले साल मई महीने में अंतर्राष्ट्रीय नंबर से फोन कर धमकाया गया था। उस समय उसने अपराध शाखा में मामले की शिकायत की थी। कुछ समय पहले साइबर पुलिस ने मामले की जांच अपने हाथ में ली और तकनीकी जानकारी के आधार पर पता चला कि फोन बेंगलुरू के किया गया था और उसे अंतर्राष्ट्रीय नंबर दिखाने के लिए एक ऐप का इस्तेमाल किया गया था। इसके बाद पुलिस ने पुजारी को दबोचा। पूछताछ में पुजारी ने बताया कि वह तकनीक में माहिर है और उसने किसी और व्यक्ति के कहने पर कारोबारी को फोन कर पैसे मांगे थे। आरोपी रवि पुजारी गिरोह से जुड़ा बताया जा रहा है।