बिहार : बिहार : राज्यसभा चुनाव में प्रत्याशी को लेकर राजद, जदयू में असमंजस

May 20th, 2022

हाईलाइट

  • जदयू को एक सीट का नुकसान

डिजिटल डेस्क, पटना। बिहार से राज्यसभा के लिए 10 जून को होने वाले राज्यसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों को लेकर लगभग सभी दलों में असमंजस की स्थिति बनी हुई है।

वैसे, संख्या बल के हिसाब से राष्ट्रीय जनता दल (राजद) को एक सीट का फायदा होगा, जबकि सत्ताधारी पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जदयू ) को एक सीट का नुकसान हो सकता है।

जुलाई में बिहार से पांच सीटें खाली हो रही हैं। उनमें से एक केंद्रीय मंत्री और जदयू के वरिष्ठ नेता आर सी पी सिंह की सीट है। उनके अलावा भाजपा के गोपाल नारायण सिंह और सतीश चंद्र दूबे भी कार्यकाल पूरा करने वालों में होंगे। राजद से मीसा भारती की सीट भी है, जो सात जुलाई को खाली हो रही है। इसके अतिरिक्त एक सीट शरद यादव की है, जो जदयू कोटे से राज्यसभा पहुंचे थे।

राजद ने इस चुनाव के लिए प्रत्याशी चयन को लेकर भले ही प्रमुख लालू प्रसाद को अधिकृत कर दिया हो, लेकिन जिस तरह राज्य और केंद्रीय संसदीय बोर्ड की बैठक से तेजस्वी यादव नदारद रहे उससे यह कयास लगाए जा रहे है, प्रत्याशी चयन को लेकर राजद परिवार में एक राय नहीं बन रही।

वैसे, सूत्रों का कहना है कि राजद पूर्व सांसद मीसा भारती को राज्यसभा फिर से भेज सकती है। वैसे, कहा यह भी जा रहा है कि प्रत्याशी बनने की रेस में तेजप्रतप यादव भी हैं। इधर, सत्ताधारी जनता दल यूनाइटेड भी अब तक प्रत्याशी को लेकर पत्ते नहीं खोल रही है।

केंद्रीय मंत्री आर सी पी सिंह को फिर से राज्यसभा भेजे जाने को लेकर पार्टी में अभी भी असमंजस की स्थिति बनी हुई है। जदयू के अध्यक्ष ललन सिंह ने इस बीच साफ कर दिया है कि प्रत्याशी का चयन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को करना है।

इधर, जदयू के सांसद रामप्रीत मंडल कहते हैं कि पार्टी में सर्वमान्य नेता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हैं, वे जो निर्णय लेंगे, सभी मानेंगे। ऐसे कहा यह भी जा रहा है कि अध्यक्ष और आर सी पी सिंह के रिश्ते कही सिंह के राज्यसभा जाने में बाधा नहीं डाल दे।

संख्याबल में देखे तो विधानसभा में भाजपा के सबसे अधिक 77 विधायक हैं जबकि राजद 76 विधायकों के साथ राज्य में दूसरे नंबर की पार्टी है। जदयू के पास 45 विधायक हैं जबकि हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के पास 4 विधायक हैं।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.